Ads

गिलोय के फायदे और नुकसान इन हिंदी - इंडियन गप्पा की कलम से

गिलोय के फायदे और नुकसान इन हिंदी - Giloy Benefits and Side Effects 


आज के इस लेख में आपको गिलोय के फायदे और नुकसान के बारे में साथ ही Giloy Benefits और Giloy Side Effects क्या है बारे में बताएँगे.

Giloy Ke Fayde क्या है वैसे ही गिलोय के नुकसान आपके स्वास्थ्य पर किस प्रकार हो सकते इसकी जानकारी होना आपके लिए आवश्यक है.

आप गिलोय को एक बहुमूल्य औषधि के रूप में जानते है. परन्तु गिलोय के फायदे के साथ Side Effects Of Giloy के बारे में जो जानकारी इस पोस्ट में आपको देने वाले है. उसको जानकर आप Benefits of Giloy इस बारे में पूरी तरह से संतुष्टता का अनुभव करेंगे.

इस Giloy Ke Fayde In Hindi लेख में आपको आपकी अपनी हिंदी भाषा में सटीक और सही जानकारी देने के लिए ये लेख हमारे द्वारा लिखा जा रहा है. 

            तो आइये शुरू करने से पहले गिलोय के बारे में कुछ जान लेते है. 

गिलोय यह एक लता है, जिसे हम आम भाषा में बेला या बेल भी कहते है. इसका इंग्लिश नाम “Tinospora Cordifolia” ऐसा होता है. 

गिलोय के फायदों को समझकर कुछ वर्षो में लोगों ने जागरुकता के साथ गिलोय की बेल घरों में लगाने का कार्य किया है. ये बात अलग है की अधिकांश लोग अभी भी गिलोय की पहचान कर पाने में असमर्थ हैं. इसकी पत्तिया खाने के पान के पत्तो की तरह होती है. 

गिलोय का एक नाम “अमृता” भी है. क्योकि यह बहुत ज्यादा गुणकारी होती है. बुखार की सटीक औषधि होने के लिए आयुर्वेद में गिलोय जाना जाता है. 

आयुर्वेद के जानकारी के अनुसार 
नीम गिलोय (Neem giloy) याने नीम के पेड़ पर चढ़ी गिलोय की बेल को दवा के रूप में सर्वश्रेष्ठ कहा गया है. ये गिलोय एक गुण है इसकी बेल जिस भी पेड़ पर चढ़ती है पेड़ के गुणों को अपने भीतर समा लेती है.

गिलोय के बारे में एक सटीक जानकारी के साथ हमारे ब्लॉग में अन्य लेख लिखा गया है जिसे आप यहाँ देख सकते है - What is Giloy In Hindi  👈 👈 👈

इस लेख में आपको निम्न मुद्दे के आधार पर आपको गिलोय के फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी देंगे जिसे आप निचे देख सकते है. 

Table of Contents In This Post by इंडियन गप्पा

  • गिलोय के फायदे पोषक तत्व की दृष्टी से (Giloy Benefits Nutrients )
  • Giloy Ke Fayde In Hindi औषधीय गुण  की दृष्टी से (Benefits of Giloy Medicinal Properties)
  • Benefits of Giloy In Hindi Discussion (Giloy Ke Fayde In Hindi)
  • राजीव दीक्षित इनके अनुसार गिलोय के फायदे
  • गिलोय के नुकसान (Giloy Side Effects )

तो आइये अब शुरू करते है.....!

गिलोय-के-फायदे-और-नुकसान-इन-हिंदी,गिलोय-के-फायदे,	Giloy-Benefits,Giloy-Ke-Fayde,Benefits-of-Giloy,Giloy-Ke-Fayde-In-Hindi
गिलोय के फायदे और नुकसान इन हिंदी

गिलोय के फायदे पोषक तत्व की दृष्टी से - Giloy Benefits Nutrients :-

 
गिलोय उसमे पाये जाने वाले पोषक तत्वों की दृष्टी से काफी लाभदायक बेल है. इसमें गिलोइन नामक ग्लूकोसाइड एसिड पाया जाता है. वैसे ही इसके आलावा पामेरिन, टीनोस्पोरिन तथा टीनोस्पोरिक इस प्रकार के एसिड अधिक मात्र में इसमें होते है. 

वैसे ही गिलोय के अन्दर आयरन, कॉपर, जिंक, फॉस्फोरस, मैगनीज और कैल्शियम की मात्रा भी काफी ज्यादा होती है. जिसके चलते Giloy Ke Fayde में सबसे पहले इसके पोषक तत्व ही इसकी महत्ता हमारे जीवन में साध्य करती है.

Giloy Ke Fayde In Hindi औषधीय गुण  की दृष्टी से - Benefits of Giloy Medicinal Properties:-


Giloy Benefits In Hindi इसमें Giloy के औषधीय गुण के बारे में जानकर आप हैरान रह जायेंगे. ये के ऐसी औषधीय गुणों वाली बेल या लता है जिसके सेवन से आपके शरीर किसी भी बीमारी का वास असंभव सा हो जाता है. 

गिलोय की पत्तियां, वैसे ही जड़ो का भाग, गिलोय का तना ये सभी भाग मानव के स्वास्थ के लिए गुणकारी औषधि के रूप में कार्य करती है, इस बात की पुष्टि आयुर्वेद भी करता है. 

फिर भी पत्तियों से ज्यादा गिलोय के तने का ही बीमारियों के उपचार के लिए उपयोग का किया जाता है. गिलोय में एंटीऑक्सीडेंट की खान है, एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा इसमें बहुत ज्यादा प्रमाण में होती है. वैसे ही गिलोय में एंटी-इंफ्लेमेटरी रोधी गुण होते हैं. इसमें कैंसर से लड़ने वाले गुण भी होते है. 

इन्हीं औषधीय गुणों के कारण से गिलोय पीलिया, बुखार, डायबिटीज, गठिया, एसिडिटी, कब्ज़, मूत्र संबंधी रोगों, अपच काफी कारगर सिद्ध होती है. कम ही ऐसी औषधियां हैं जिसमे वात, पित्त तथा कफ तीनो रोगों को नियंत्रित करने की शक्ति होती है. जिसमे गिलोय का नाम पहले लिया जाता है.

इसका विषैले हानिकारक पदार्थ (टॉक्सिन) पर काफी रामबाण प्रभाव पड़ता है. जो टॉक्सिन हमारे शरीर के लिए काफी हानिकारक होते है. इससे जुड़े बीमारियों के उपचार की क्षमता Giloy में होती है. जो Giloy Benefits याने गिलोय के फायदे में मुख्य है. 


Benefits of Giloy In Hindi Discussion - Giloy Ke Fayde In Hindi


गिलोय कब्ज़ डायबिटीज, पीलिया जैसी कई गंभीर बीमारियों के सटीक उपचार के लिए उपयोगी है. आज Giloy Ke Fayde aur Nuksan In Hindi इस लेख में गिलोय के फायदे और नुकसान के बारे में आगे विस्तार से चर्चा करेंगे...तो आइये देखते है.......!

1. डेंगू में गिलोय के फायदे - Benefits of Giloy for Dengue in Hindi


डेंगू एक ऐसी बीमारी है जिसमे बीमार व्यक्ति को बहुत तेज बुखार होता हैं. जिससे वह व्यक्ति कमजोर महसूस करने लगता है. डेंगू से छुटकारा पाने के घरेलू उपचार में गिलोय का नियमित एक सप्ताह सेवन करना चाहिए. गिलोय में एंटीपायरेटिक गुण मौजूद होते है जो डेंगू के बुखार को जल्दी ठीक में कारगर साबित होते है. 

उसी तरह यह एक इम्युनिटी बूस्टर की शैली में कार्य करता है. जिससे डेंगू गिलोय के केवल एक सप्ताह सेवन करने से ही चला जाता है. कभी कभी ये तिन दिनों में ही समाप्त हो जाता है.

डेंगू में गिलोय सेवन करने का तरीका :- 

डेंगू होने गिलोय का काढ़े याने गिलोय जूस (Giloy juice) का सेवन करना चाहिए. जिसकी मात्र २ से ३ चम्मच को १ कप पानी में मिलाकर ले. इसका सेवन दिन में २ बार खाली पेट में करे. Giloy Ke Fayde में सबसे बड़ा फायदा है की, ये डेंगू का रामबाण इलाज है. 

2. पाचन संबंधी समस्याओं में गिलोय के फायदे - Benefits of Giloy for Indigestion in hindi :-


आपको यदि अपचन समस्याओं जैसे कि एसिडिटी, कब्ज़ या अपचन की परेशानी हैं. ऐसी पाचन संबंधी समस्याओं में गिलोय का सेवन लाभदायक साबित होता है. उसीप्रकार गिलोय का काढ़ा (Giloy Juice) आपको पेट की बहुत सी बीमारियों से बचाए रखता है. Giloy Ke Fayde बताये समय अपचन और कब्ज़ से निजत पाने के बारे में बताना न भूले.

पाचन संबंधी समस्याओं में सेवन का तरीका :- 

इस समस्या में गिलोय को चूर्ण के रूप में सेवन करना चाहिए. इसकी मात्रा इस प्रकार ले जिसमे १ चम्मच गिलोय चूर्ण को गर्म पानी के में सेवन करे. इसे आप दिन में या रात में कभी भी ले सकते है. लेकिन रात में सोने के पहले ही इसका सेवन अधिक लाभप्रद होता है.

3. खांसी में गिलोय के फायदे - Benefits of Giloy for cough in hindi


गिलोय में एंटीएलर्जिक गुण विद्यमान होता है. यदि आपको अधिक दिनों से खांसी हो और ठीक नहीं हो रही हो. इस समय आपको गिलोय का सेवन करना चाहिए. इसके एंटीएलर्जिक गुण खांसी को जड़ से ख़त्म करते है. गिलोय के काढ़े के रूप में सेवन करने से चाहे खांसी कैसी भी हो बहुत जल्दी ठीक हो जाती है. Giloy Ke Fayde In Hindi के रूप में ये भी अतुलनीय फायदा है.

खांसी में गिलोय के सेवन का तरीका :- 

गिलोय का काढ़ा शहद के साथ सेवन करे. एक बात का जरुर ध्यान रखे की इसके बाद आधा घंटा तक कुछ न खाए. इसके खांसी से जल्दी ही छुटकारा आपको मिल जायेगा. 

4. डायबिटीज में गिलोय के फायदे - Benefits of Giloy for diabetes in hindi

गिलोय हाइपोग्लाईसेमिक एजेंट है. इसके ऊपर विशेषज्ञों की राय एक जैसी है. गिलोय टाइप-2 डायबिटीज की रोकथाम में काफी लाभदायक साबित होता है. इसके लिए गिलोय को जूस के रूप में सेवन करना चाहिए. गिलोय हमारे शरीर पर ब्लड शुगर के प्रभाव को कम करती है. इससे इन्सुलिन रेजिस्टेंस कम हो जाता है. गिलोय इन्सुलिन स्राव को बढ़ाती है. इसीलिए गिलोय डायबिटीज से पीड़ित रोगियों के लिए ये संजीवनी का कार्य करती है. 

डायबिटीज में गिलोय के सेवन का तरीका :- 

डायबिटीज में गिलोय को दो प्रकार से गिलोय का सेवन कर सकते हैं.

गिलोय जूस के रूप में :- 

इसको सुबह खाली पेट २ से ३ चम्मच Giloy Juice को १ कप पानी में मिलाकर सेवन करें.

गिलोय चूर्ण के रूप में :- 

इसका सेवन खाना खाने के एक से डेढ़ घंटे बाद आधा चम्मच गिलोय चूर्ण को पानी के साथ दिन में दो बार लेवे.  

5. बुखार में गिलोय के फायदे - Benefits of Giloy for Fever In Hindi :-


गिलोय को (Guduchi) गुडूची भी कहा जाता है. इसके अन्दर कुछ इस प्रकार के एंटीपायरेटिक गुणधर्म विद्यमान होते हैं, जो आपके कितने भी पुराने बुखार का उपचार करने में कारगर साबित होती है. इसी कारण डेंगू, मलेरिया, स्वाइन फ्लू के बुखार से निजात पाने में गिलोय के सेवन करना चाहिए. ये सबसे बड़ा Benefits of Giloy कहा जाता है.

बुखार में गिलोय के सेवन का तरीका :- 

इसमें गिलोय घनवटी की १ से २ गोली पानी या दूध के साथ दिन में दो बार खाने सेवन करे. आपको लाभ ही होगा. 


6. पीलिया में गिलोय के फायदे - Benefits of Giloy for Jaundice In Hindi :-


पीलिया ये बीमारी बहुत खतरनाक होती है. जिसमे मरीज की जान तक बात बन सकती है. ऐसे असाध्य रोग के मरीजों को गिलोय के ताजे पत्तों का जूस निकल कर पिलाना चाहिए. इससे पीलिया में जल्दी लाभ मिलता है. 

इसके अतिरिक्त गिलोय के नियमित सेवन पीलिया के कारण ज्वर और बदन दर्द होता है उसमे भी जल्द ही आराम मिल जाता है. 

पीलिया से निजात पाने के लिए आप गिलोय स्वरस (Giloy juice) को इस्तेमाल न कर गिलोय सत्व का भी सेवन कर सकते है.

पीलिया में गिलोय के सेवन का तरीका :- 

गिलोय सत्व की मात्रा एक से दो चुटकी. इसको शहद मिला ले. इसका सेवन आप खाने के बाद कर सकते है.

7. इम्युनिटी बढ़ाने का सवोत्तम उपाय - Benefits of Giloy for Immunity Booster in Hindi :-

Giloy हमारे शरीर की बीमारियों की रोकथाम के साथ ही हमारे शरीर की रोगप्रतिकारक क्षमता को बढ़ता है. ये गिलोय के फायदे (Giloy Ke Fayde In Hindi) में मुख्य है. गिलोय का सेवन आप गिलोय जूस, गिलोय सत्व किसी भी रूप में कर सकते है. ये किसी भी रूप में हमारे शरीर की इम्युनिटी को बढ़ता ही है. 

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए सेवन का तरीका :-

गिलोय इम्युनिटी बूस्टर की तरह उपयोग करने के लिए तीन चम्मच मात्रा 10-15ml तक गिलोय जूस का दिन में २ बार सेवन करें.  

8. एनीमिया में गिलोय के फायदे - Anemia me Giloy Ke Fayde In Hindi :-


एनीमिया रोग शरीर में खून की कमी होने पर होता है. साधारणत: महिलायें में एनीमिया की शिकायत ज्यादा पायी जाती है. जो महिलाओं एनीमिया से पीड़ित है उनके लिए गिलोय का रस रामबाण औषधि है. गिलोय का रस (Giloy juice) का नियमित रूप से सुबह शाम सेवन करने से शरीर में होने वाली खून की कमी दूर किया जा सकता है वैसे ही इसके सेवन से हमारा Immune System  मजबूत होता है.

एनीमिया में गिलोय के सेवन का तरीका :- 

गिलोय जूस (Giloy juice) को शहद या पानी में मिश्रित कर पीना चाहिए. इसकी मात्रा दो से तीन चम्मच (10-15ml) रखे और दिन में २ बार खाने से पहले सेवन करे.

9. गठिया में गिलोय के फायदे - Benefits of Giloy for Rheumatoid Arthritis in Hindi :-

गिलोय का एंटी-आर्थराइटिक गुणधर्म का होना इसकी एक विशेषता में से है. इसी एंटी-आर्थराइटिक गुणधर्म के कारण गिलोय गठिया (Rheumatoid Arthritis) से पीड़ित रोगी के लिए बजरंगबान इलाज है. जो मरीज जोड़ों के दर्द से हो उनको गिलोय का नित्य सेवन करना ही चाहिए.

गठिया में गिलोय के सेवन का तरीका :- 

गिलोय जूस और गिलोय का काढ़ा दोनों का ही आप इसमें उपयोग कर सकते है. गिलोय जूस दो से तीन चम्मच (10-15ml) तक एक कप पानी में मिलाकर सुबह सौच के बाद लेवे. गिलोय का काढ़ा को शहद मिश्रित करके दिन में २ बार भोजन के पश्चात सेवन करें.

10. त्वचा के लिए लाभकारी है गिलोय - Skin Problem me Giloy Ke Fayde In Hindi :-


गिलोय त्वचा के लिए अत्यंत ही लाभकारी है. त्वचा के संबंधी बीमारियों जैसे स्किन एलर्जी, किल-मुहासे, सफ़ेद दाग, काले दाग, झुर्रिया गिलोय इन सबको ठीक करने में असरदार कार्य करता है.
त्वचा रोगों में उपयोग का तरीका : त्वचा संबंधी बीमारियों में Giloy Benefits उठाने के लिए इसके तने का घोल/पेस्ट बना लीजिये और जहा आपको समस्या हो वह पर लगा लेवे. ये पेस्ट त्वचा संबंधी सभी रोगों में लाभकारी है.

11. अस्थमा में गिलोय के फायदे - Asthma me Giloy Ke Fayde :-


एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणधर्म के चलते अस्थमा जैसी सांसो से संबंधित बीमारियों में गिलोय प्रभावशाली ढंग से कार्य करता है. गुडूची (Guduchi) या गिलोय कफ को जल्दी से नियंत्रित कर पाने में सक्षम है. वैसे ही इम्युनिटी को मजबूत करता है. जिससे हमारे फेफड़े स्वस्थ बनते हैं और अस्थमा जैसे बीमारी में हमारी मदत करते है. 

अस्थमा में सेवन का तरीका :- 

गिलोय चूर्ण के साथ मुलेठी का चूर्ण को शहद के साथ लेवे. इसकी मात्रा दिन में २ बार सेवन करें. इस मिश्रण का उपयोग अन्य सांसो से जुड़ी समस्याओं में कर सकते है.

12. डायरिया से बचाए रखता है – डायरिया में Giloy Ke Fayde In Hindi:-


डायरिया ऐसी बीमारी जो शरीर में पानी की मात्र को कम कर देती है. ये ज्यादातर गर्मियों के दिनों इससे लोग पीड़ित होते है. इसमें पीड़ित को लगातार दस्त, उल्टी जैसी परेशानी होती है इससे कमजोरी आ जाती है. इसमें पीड़ित को गिलोय की पत्तियों से बना काढ़ा या एनर्जी जूस का सेवन करना काफी लाभप्रद होता है.

13. लीवर को मजबूत बनता है - Benefits of Giloy for Liver In Hindi :-


लीवर से जुडी समस्या आजकल आम बात हो चुकी है. लेकिन शराब का अत्यधिक सेवन लीवर की पीड़ा का मुख्य कारण है. इसमें गिलोय सत्व या गुडूची सत्व का नियमित सेवन लाभप्रद होता है. गुडूची सत्व खून करके हमारे शरीर में एंटीऑक्सीडेंट-एंजाइम को बनाये रखती है. इस प्रकार लीवर को स्वस्थ रखने में कारगर होती है.

14. कैंसर के उपचार में - Benefits of Giloy for Cancer In Hindi :-


यदि गिलोय का सेवन कोई भला चंगा इन्सान भी करे तो कोई बुराई नहीं है. लेकिन कैंसर रोगीयो को भी इस जूस का नियमित रूप से सेवन करना चाहिए. 

इसमें एक महानुभाव Research Gate का कहना है की, 
एंटीकैंसर एक्टिविटी गिलोय में पाई जाती है जो कैंसर के उपचार में सहायता तो प्रदान करती ही है, इसके साथ ही कैंसर के रोगियों को इस बीमारी से प्रभावित होने से भी बचाए रखने का काम कर सकता है

15. बोन/ हड्डी के फ्रैक्चर में गिलोय के फायदे – Benefits of Giloy in Bone Fetcher:- 

  
हड्डी में फ्रैक्चर होने पर भी आप गिलोय की पत्तियों का उपयोग कर सकते है. चाहे वो चोट किसी दुर्घटना में लगी हो, बच्चों को खेलकूद के दौरान लगी हो. 

एक संस्था के रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है कि, 
अगर गिलोय की पत्तियों का जूस पीया जाए और इसकी पत्तियों को थोडा गर्माहट देकर चोट पर लगाया जाए तो फ्रैक्चर वाली जगह में दर्द कम होने का अनुभव होता है

इसलिए बोन/ हड्डी के फ्रैक्चर जैसी समस्या में तुरंत उपचार के रूप में गिलोय का उपयोग किया जा सकता है.

राजीव दीक्षित इनके अनुसार गिलोय के फायदे :- 


एक प्रखर वक्ता, भारतीय वैज्ञानिक, आजादी बचाओ आन्दोलन के संस्थापक राजीव दीक्षित थे. उन्हें भारत स्वाभिमान (ट्रस्ट) के राष्ट्रीय महासचिव का उत्तरदायित्व बाबा रामदेव के द्वारा सौंपा गया था. राजीव दीक्षित के स्वास्थ्य ज्ञान की वजह से लाखों लोगो का जीवन खुशहाल हुआ. राजीव दीक्षित जी स्वदेशी के महान समर्थक थे. इनके द्वारा भी गिलोय के फायदे बताये गए है.

राजीव दीक्षित इनके अनुसार, 

गिलोय यह बेल गरीब के घर की डॉक्टर है जो 70 से ज्यादा रोगों को जड़ से मिटने की ताकत रखती है. इसकी एक विशेषता ये है की , यह सरलता से से गाँव मे खेतो में मिल ही जाती है

उनके अनुसार बताये गए गिलोय के फायदे (Giloy Benefits) इस प्रकार है. 

1. रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है, 2. ज्वर से लड़ने के लिए उत्तम औषधी, 3. पाचन क्रिया करता है दुरुस्त, 4. बवासीर का भी इलाज है गिलोय, 5. डॉयबिटीज का उपचार, 6. उच्च रक्तचाप को करे नियंत्रित, 7. अस्थमा का बेजोड़ इलाज, 8. आंखों की रोशनी बढ़ाने हेतु, 9. सौंदर्यता के लिए भी है कारगार, 10. खून से जुड़ी समस्याओं को भी करता है दूर, 11. दांतों में पानी लगना, 12. रक्तपित्त (खूनी पित्त), 13. खुजली, मोटापा, 15. हिचकी व् सभी प्रकार के बुखार, 16. कान का मैल साफ करने के लिए, कान में दर्द, 17. संग्रहणी (पेचिश), 18. कब्ज, 19. खून की कमी (एनीमिया), 20. हृदय की दुर्बलता, 21. हृदय के दर्द, 22. मूत्रकृच्छ (पेशाब करने में कष्ट या जलन), 23. क्तप्रदर, 24. चेहरे के दाग-धब्बे, 25. सफेद दाग, 26. पेट के रोग, 27. जोड़ों के दर्द (गठिया), 28. वातज्वर, 29. शीतपित्त (खूनी पित्त), 30. जीर्णज्वर (पुराने बुखार), 31. वमन, नेत्रविकार (आंखों की बीमारी), 32. सिर का दर्द, 33. शरीर को ताकतवर और शक्तिशाली बनाना. 

गिलोय के नुकसान - Giloy Side Effects In Hindi


ऊपर आपके द्वारा पढ़े गए Giloy Ke Fayde In Hindi वैसे ही Benefits of Giloy को जानकर यदि आप समझ रहे है की गिलोय के सेवन से केवल लाभ ही होते है इस बारे में आप थोडा सा गलत सोच रहे है. इसमें कोई दोहराय नहीं है की, गिलोय के फायदे नहीं है. लेकिन हर एक चीज का विपरीत पहलु भी होता है. इसीलिए  केवल फायदे ही है ऐसा सोचना ये गलत है. 

अगर आपके शरीर को जितनी मात्रा में गिलोय की आवश्यकता है उससे ज्यादा इसका सेवन करते हैं तब गिलोय के नुकसान (Side Effects Of Giloy) भी आपके शरीर पर पड़ सकते है. अब हम आपको गिलोय के उपयोग के कुछ विपरीत पहलुओ का भी ज्ञान करवा देते है.

Giloy-Side-Effects,Side-Effects-Of-Giloy,गिलोय-के-नुकसान
गिलोय के नुकसान



तो आइये समझ लेते है की, गिलोय के नुकसान क्या हैं. किस समय हमें गिलोय का सेवन करना भारी पद सकता है. इसे हम Giloy side effects in hindi के माध्यम से समझ लेते है.

1. निम्न रक्तचाप में गिलोय के नुकसान - Giloy Side Effects in Low Blood Pressure :-


जिन व्यक्तियो को निम्न रक्तचाप याने लो ब्लड प्रेशर से पीड़ित है. इसकी दवाओ का सेवन कर रहे है. उनको गिलोय के सेवन नहीं करना चाहिए. गिलोय के सेवन से आपको ब्लड प्रेशर कम होता है ये इसका मुख्य कारण है. इस तरह लो ब्लड प्रेशर से पीड़ित व्यक्ति की तबियत ख़राब हो सकती है. इसीलिए आप डॉक्टर की सलाह के बाद गिलोय का सेवन करें.

2. गर्भावस्था में गिलोय के नुकसान - Giloy Side Effects in Pregnancy in Hindi :-


गर्भवती महिलाओं को भी गिलोय से परहेज करना चाहिए. जो महिलाये बच्चो को स्तनपान करा रही है उनको भी गिलोय के उपयोग की सलाह नहीं दी जाती है. साधारणत: गर्भवती महिला में इसका कोई गलत प्रभाव या गिलोय के नुकसान के प्रमाण सामने नहीं आये है. लेकिन फिर भी डॉक्टर की सलाह के बिना गर्भावस्था के समय गिलोय का सेवन ना करें ना किसी को ऐसी सलाह दे.

3. ऑटो इम्यून बीमारी होने का नुकसान - Giloy Side Effects in Auto Immune Disease :-


गिलोय से हमारे शरीर की इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होता है. ये बात बिलकुल सत्य है. लेकिन जब इम्युनिटी अधिक सक्रिय होने लगती है तब ऑटो इम्यून बीमारी होने का खतरा होता है. इन ऑटो इम्यून बीमारियों में रुमेटाइड आर्थराइटिस या मल्टीप्ल स्केरेलोसिस आदि प्रमुख है. इन बीमारियों से पीड़ित व्यक्तियों को गिलोय के सेवन से परहेज करना चाहिए.

4. कब्ज की समस्या है गिलोय के नुकसान - Giloy Increases Constipation:-


ऊपर आपको बताया गया है की, गिलोय पाचन समस्याओं में काफी प्रभावी है, लेकिन अत्यधिक गिलोय का सेवन से गिलोय के नुकसान आपके पेट को झेलना पड़ सकता है. इसके अत्यधिक सेवन से आपको कब्ज की समस्या हो सकती है. इसलिए डॉक्टर की सलाह से इसका उपयोग करे.

5. सर्जरी में गिलोय के नुकसान - Side Effects Of Giloy In Surgery:-


यदि आपके द्वारा किसी तरह की सर्जरी करवा रहे है इस समय आपको गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए. इसका कारण गिलोय ब्लड प्रेशर को कम करती है और इसके चलते आपको सर्जरी के दौरान मुश्किलें पैदा हो सकती है. वैसे भी हर एक सर्जरी के पहले डॉक्टर के द्वारा ब्लड प्रेशर, शुगर लेवल की जाँच की ही जाती है.

Conclusion :-

हमारे गिलोय के फायदे और नुकसान इन हिंदी इस लेख के द्वारा आपको Benefits of Giloy, Giloy Benefits और गिलोय के नुकसान (Giloy Side Effects) बताये गए है. इसलिए Giloy Ke Fayde लेने के लिए आपके शारीरिक जरूरत के मुताबिक गिलोय सेवन करे. ताकि आपको Side Effects Of Giloy न होने पाये और केवल Benefits of Giloy ही प्राप्त हो. इसलिए सीमित मात्रा में गिलोय जूस (Giloy juice) या फिर गिलोय सत्व सेवन करें. हालांकि Giloy Ke Nuksan कम ही देखने को मिलते हैं, हमें एक बात का ध्यान जरुर रखना चाहिए की Giloy Ke Fayde In Hindi ही ज्यादा है. 

Post a Comment

0 Comments