Ads

भारत के शिक्षा मंत्री कौन है 2021 - Current Education Minister of India

वर्तमान में भारत का शिक्षा मंत्री कौन है - Who Is the Education Minister of India 2021 


आपको बता दे की, भारत के शिक्षा मंत्री “श्री रमेश पोखरियाल निशंक” है. आज के इस लेख में शिक्षा मंत्री कौन है इस विषय के ऊपर आपके प्रश्न जैसे भारत का शिक्षा मंत्री कौन है या Bharat Ka Shiksha Mantri Kaun Hai, Bharat Ke Shiksha Mantri Kaun Hai या भारत के शिक्षा मंत्री कौन है, Education Minister of India, Who Is the Education Minister of India और Who Is Education Minister of India इन सवालो पर जानकारी साझा करेंगे. 


Bharat Ke Shiksha Mantri Kaun Hai- भारत के शिक्षा मंत्री कौन हैं


जब भी आप Bharat Ka Shiksha Mantri Kaun Hai (भारत का शिक्षा मंत्री कौन है) इस सवाल का जवाब जानना चाहते है. तो इसमें हर बार आप Current Education Minister of India के बारे में ही जानने की इच्छा रखेंगे. पर ये जरुरी भी नहीं की आप केवल Present Education Minister of India या फिर शिक्षा मंत्री कौन है 2021 के बारे में ही जानकारी चाहते है. 


ऐसा होना जरुरी नहीं है. कुछ लोग Bharat Ke Pratham Shiksha Mantri या फिर First Education Minister of India के बारे में भी जानकारी चाहते होंगे. वैसे ही कुछ शिक्षा मंत्री कौन है 2018 (Education Minister of India 2018), शिक्षा मंत्री कौन है 2019 (Education Minister of India 2019, शिक्षा मंत्री कौन है 2020 (Education Minister of India 2020) इस जानकारी के लिए भी गूगल पर सर्च कर सकते है. 


भारत-के-शिक्षा-मंत्री-कौन-है
भारत के शिक्षा मंत्री कौन है

इसीलिए हम हर पहलु के आधार पर आपके सवालो के जवाब को देख रहे है. आप चाहे किसी भी उत्तर के अपेक्षा से Bharat Ka Shiksha Mantri (Education Minister of India) इस प्रश्न को गूगल में डालते होंगे. आपके सभी अपेक्षा की पूर्ति हमारा लेख करेगा.


माननीय शिक्षा मंत्री - श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ और शिक्षा राज्य मंत्री - श्री संजय धोत्रे इनसे सीधे संपर्क करने के लिए आप यहाँ पर देख सकते है. 


शिक्षा मंत्रालय की मूल वेबसाईट 👈👈

 

bharat-ka-shiksha-mantri-kaun-hai
Bharat Ka Shiksha Mantri Kaun Hai

वैसे तो हमने अपने लेख की शुरवात में ही बता दिया है की, “श्री रमेश पोखरियाल निशंक” ये भारत के शिक्षा मंत्री है. उनके जीवन परिचय भी इस लेख में चर्चा का विषय होगा.


लेकिन पहले ये जान लेते है, की आखिर शिक्षा मंत्री कौन होता है (Who Is Education Minister). उसका कार्य क्या होता है. इस बारे में अत्यंत संक्षेप में जानेंगे. 


शिक्षा मंत्री कौन है या कौन होता है - Who Is Education Minister


हमारा भारत देश एक लोकतान्त्रिक गणराज्य है. भारत देश की सरकार को जनता सीधे अपने मतदान से चुनती है. हर पांच वर्ष के बाद चुनाव किया जाता है. चुनाव के बाद पार्टिया सरकार बनाती है. ये चुनाव हर ग्राम पंचायत, पंचायत समिति, राज्य, केन्द्रशाषित प्रदेश, वैसे ही पुरे देश में होता है. 


हमारे द्वारा यहाँ चुनाव से अर्थ है लोकसभा चुनाव. लोकसभा का चुनाव हमारे देश के प्रजातंत्र का सबसे बड़ा चुनाव है. इसके द्वारा हम अपने प्रधानमंत्री (Prime Minister) को चुनकर देते है. जिस व्यक्ति का भी बहुमत हो वो उस पार्टी या दल का नेता प्रधानमंत्री पद की शपथ लेता है. 


उसके बाद ही प्रधानमंत्री अपने मंत्रियो को उनके कार्यो के लिए मंत्रिमंडल हस्तांतरित करता है. जिसे भारत का केन्द्रीय मंत्रिमण्डल का विस्तार कहा जाता है. उनमें बाकी सांसदों को एक-एक मंत्रालय दिए जाते है. किसी किसी मंत्री के पास एक से ज्यादा मंत्रालयों का कार्यभार हो सकता है.


आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

Divorce Hindi mein kya kahate hain

ऑनलाइन को हिंदी में क्या कहते हैं - सटीक जवाब बिना बकवास

Best Motivational Speech For Students - छात्रों के लिए प्रेरक भाषण


इन मंत्रालयों में से एक होता है - शिक्षा मंत्रालय (Education Ministry) जिसे पहले मानव संसाधन मंत्रालय कहा जाता था. इस शिक्षा मंत्रालय  का कार्यभार जिस सांसद को दिया जाता है से “शिक्षा मंत्री” कहा जाता है. भारत के शिक्षा मंत्री को पहले मानव संसाधन विकास मंत्री (Minister of Human Resources Development) कहा जाता था. लेकिन नयी शिक्षा निति के अनुसार बाद में “शिक्षा मंत्री” कहा जाने लगा. Bharat Ka Shiksha Mantri शिक्षा मंत्रालय के प्रमुख और भारत सरकार के कैबिनेट मंत्रियों में से एक होता है. 


वर्तमान में “श्री रमेश पोखरियाल निशंक” ये शिक्षा मंत्री है. वे भारत के ३२ वे शिक्षा मंत्री है. मौलाना अबुल कलाम आज़ाद (Abul Kalam Azad) भारत के First Education Minister of India थे. 


इसीलिए यदि आपको Bharat Ke Pratham Shiksha Mantri Kaun the इस सवाल से परेशान नहीं होना है. आप झट से उत्तर दीजिये की, इंडिया के 1st Education Minister of India अबुल कलाम आज़ाद थे 


रमेश पोखरियाल एक कुशल राजनीतिज्ञ है तथा वर्तमान में भारत सरकार में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री (Minister of Human Resources Development) का पद की शोभा बढ़ा रहे हैं. वे भारतीय जनता पार्टी (B.J.P.) के एक प्रमुख नेता के रूप में उत्तराखण्ड की कमान सँभालते है. हिन्दी कवि के रूप में उन्हें प्रसिद्दी प्राप्त है. लोक सभा आश्वासन समिति के अध्यक्ष और हरिद्वार लोक सभा क्षेत्र से सांसद है. सबसे महत्वपूर्ण ये की, रमेश पोखरियाल निशंख उत्तराखण्ड के पाँचवे मुख्यमंत्री रहे चुके हैं. 


आगे हम Ramesh Pokhriyal Nishank का व्यक्तिगत जीवन परिचय देखेंगे.


श्री रमेश पोखरियाल निशंक भारत के शिक्षा मंत्री का व्यक्तिगत जीवन (Ramesh Pokhriyal Nishank is Present Education Minister of India)


रमेश पोखरियाल "निशंक" का जन्म 15 जुलाई 1958 को पिनानी ग्राम, पौड़ी गढ़वाल में हुआ था. पिनानी ग्राम, पौड़ी गढ़वाल तत्कालीन उत्तर प्रदेश में स्थित था. अब ये उत्तराखण्ड राज्य में है. उनके माता का नाम विश्वम्भरी देवी और पिता का नाम परमानन्द पोखरियाल है. उनका विवाह कुसुम कांत पोखरियाल से हुआ.


उनकी शिक्षा हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी से हुई. उन्होंने डी लिट् (ऑनर), पीएचडी (ऑनर), कला स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की है. अपने विद्यार्थी ज़ीवन में उन्होंने पाठ्यक्रम के अतिरिक्त अतिरिक्त गतिविधियों और अकादमिक दोनों में ही क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करके सम्मानों को प्राप्त किया हैं. विद्यार्थी जीवन से ही वे एक मेघावी छात्र थे.


👇👇आगे इनके राजनैतिक जीवन के बारे में चर्चा करेंगे. 👇👇


शिक्षा मंत्री कौन है 2021 :- श्री रमेश पोखरियाल निशंक का राजनैतिक जीवन परिचय (Ramesh Pokhriyal Nishank as Current Education Minister of India)


भारतीय जनता पार्टी (BJP) में रमेश पोखरियाल 'निशंक' एक कुशल राजनीतिज्ञ के रूप में जाने जाते है. वे प्रथम बार सन 1991 में उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए कर्णप्रयाग निर्वाचन-क्षेत्र से चुने गए थे. फिर सन 1993 और सन 1996 में उत्तर प्रदेश विधानसभा के उसी निर्वाचन-क्षेत्र से लिए चुने गए. 1997 में वे उत्तरांचल विकास मंत्री के रूप में राज्य सरकार-उत्तर प्रदेश के लिए कार्य किया. 


सन 2009 से 2011 तक वे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे है. वर्तमान में वह 16 वीं लोकसभा में निर्वाचित होकर संसद सदस्य है. वे उत्तराखंड के हरिद्वार संसदीय निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व लोकसभा में करतें है. 


श्री रमेश पोखरियाल निशंक राजनितिक जीवन के कुछ मुख्य उपलब्धिया :- 


1. रमेश पोखरियाल निशंक सन 1991 से सन 2012 तक पाँच बार उत्तर प्रदेश एंव उत्तराखण्ड की विधानसभा से विधायक रह चुके है. 

2. सन 1991 में जब प्रथम बार उत्तर प्रदेश में कर्णप्रयाग इस विधान सभा से विधायक निर्वाचित हुए उसके बाद लगातार तीन बार वे विधायक रहे है. 

3. सन 1997 में उत्तर प्रदेश श्री कल्याण सिंह सरकार में पर्वतीय विकास विभाग के कैबिनेट मंत्री रहे.

4. सन 1999 में श्री रामप्रकाश गुप्त में मंत्रीमंडल में संस्कृति पूर्त और धर्मस्व मंत्री रहे है. 

5. सन 2000 में उत्तराखण्ड राज्य नव-निर्माण के बाद वे उत्तराखण्ड के पहले वित्तमंत्री, राजस्व मंत्री, कर और पेयजल सहित 12 विभागों के मंत्री रह चुके है. 

6. सन 2007 में उत्तराखण्ड सरकार में भाषा, चिकित्सा स्वास्थ्य तथा विज्ञान प्रौद्योगिकी विभाग के मंत्री रह चुके है. 

7. सन  2009 में उत्तराखण्ड राज्य के सबसे युवा मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया. 

8. सन 2012 में देहरादून के डोईवाला निर्वाचन क्षेत्र से विधायक निर्वाचित हुए थे.

9. सन 2014 में डोईवाला निर्वाचन क्षेत्र से इस्तीफा दिया और हरिद्वार लोकसभा क्षेत्र से सांसद निर्वाचित हुए थे.

9. वर्तमान वे में सबसे लोकप्रिय सदन लोकसभा की सरकारी आश्वासन समिति के सभापति भी है. 

10. वैसे ही वर्तमान में भारत के शिक्षा मंत्री के रूप में कार्य कर रहे है. 


रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pokhriyal Nishank) के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यकाल:-


सन 2009 से 2011 तक Ramesh Pokhriyal Nishank उत्तराखंड के पाँचवे मुख्यमन्त्री रहें है. उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में अपनी ध्वनि समन्वय कौशल, राजनैतिक कौशल और अपने राजनैतिक ज्ञान की सहायता से उत्तराखंड राज्य में हरिद्वार और उधम सिंह नगर को शामिल किया. 


उत्तराखंड की हिमालयी संस्कृति को अंतरराष्ट्रीय फोरम में लाने के लिए सफल प्रयास किए और कर रहे है. राज्य केंद्रीय बिक्री कर 4% से 1% कम किया जो लघु उद्योग को प्रोत्साहित करने के लिए अच्छा प्रयास था. 


राज्य में आवश्यक वस्तुओं के लिए 364 डिपो खोले और इस तरह से 61.75 करोड़ के राजस्व को बढाकर 128 करोड़ पहुचने का कार्य किया. जिसमे कुल करसंग्रहण में 1100 करोड़ की बढ़ोतरी हुई जो इनके कार्यकाल के पहले 575 करोड़ रुपये हुआ करती थी.


आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

Police Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain - बिलकुल सरल जवाब 

भारतीय स्टेट बैंक खाता का बैलेंस चेक करना - SBI Account Balance Check

नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा ग्रिड आधारित सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने संबंधी योजना का नाम है ?


कई योजनाओं को प्रारंभ जिसमे विज्ञान और प्रौद्योगिकी की सहायता से पहाड़ी क्षेत्रों लोगों की जीवन शैली को ऊँचा बढ़ाने के लिए कारगर साबित हुई. इन्होने “स्पर्श गंगा अभियान” की शुरवात की जो गंगा नदी की स्वछता तथा उसे प्रदूषण मुक्त करने के लिए चलयी गयी.


भारत के शिक्षा मंत्री की सूचि (वर्ष 1947 से 2021 तक) – List of Education Minister of India (Year 1947 to 2021) 


आगे हम भारत के शिक्षा मंत्री (Education Minister of India) जिन्होंने की वर्ष 1947 से 2021 तक शिक्षा मंत्री के कार्य को किया है. उस भारत के शिक्षा मंत्री की सूचि के रूप में आपको बताने जा रहे है. 

अनु क्र. भारत के शिक्षा मंत्री कार्यकाल
1 मौलाना अबुल कलाम आज़ाद 15 अगस्त 1947 22 जनवरी 1958
2 डॉ. के. एल. श्रीमली (राज्य मंत्री) 22 जनवरी 1958 31 अगस्त 1963
3 हुमायूं कबीर 01 सितम्बर 1963 21 नवम्बर 1963
4 एम. सी. सी. छागला 21 नवम्बर 1963 13 नवम्बर 1966
5 फखरुद्दीन अली अहमद 14 नवम्बर 1966 13 मार्च 1967
6 डॉ. त्रिगुण सेन 16 मार्च 1967 14 फरवरी 1969
7 डा. वी. के आर. वी. राव 14 फरवरी 1969 18 मार्च 1971
8 सिद्धार्थ शंकर रे 18 मार्च 1975 20 मार्च 1972
9 प्रो. एस. नूरुल हसन (राज्य मंत्री) 24 मार्च 1972 24 मार्च 1977
10 प्रो. प्रताप चंद्र चंदर 26 मार्च 1977 28 जुलाई 1979
11 डॉ. करन सिंह 30 जुलाई 1979 14 जनवरी 1980
12 बी. शंकरंद 14 जनवरी 1980 17 अक्टूबर 1980
13 एस.बी. चव्हाण 17 अक्टूबर 1980 08 अगस्त 1981
14 शीला कौल (राज्य मंत्री) 10 अगस्त 1981 31 दिसम्बर 1984
15 के.सी. पंत 31 दिसम्बर 1984 25 सितम्बर 1985
16 पी. वी. नरसिंह राव (प्रधानमंत्री) 25 सितम्बर 1985 25 जून 1988
17 पी. वी. नरसिंह राव (प्रधानमंत्री) 25 दिसम्बर 1994 09 फरवरी 1995
18 पी. वी. नरसिंह राव (प्रधानमंत्री) 17 जनवरी 1996 16 मई 1996
19 पी. शिव शंकर 25 जून 1988 02 दिसम्बर 1989
20 वी.पी. सिंह (प्रधानमंत्री) 02 दिसम्बर 1989 10 नवम्बर 1990
21 राजमंगल पांडे 21 नवम्बर 1990 21 जून 1991
22 अर्जुन सिंह 23 जून 1991 24 दिसम्बर 1994
23 अर्जुन सिंह 22 मई 2004 22 मई 2009
24 माधवराव सिंधिया 10 फरवरी 1995 17 जनवरी 1996
25 अटल बिहारी वाजपेयी (प्रधानमंत्री) 16 मई 1996 01 जून 1996
26 एस. आर. बोम्मई 05 जून 1996 19 मार्च 1998
27 डॉ. मुरली मनोहर जोशी 19 मार्च 1998 21 मई 2004
28 श्री कपिल सिब्बल 22 मई 2009 28 अक्टूबर 2012
29 एम.एम. पल्लम राजू 29 अक्टूबर 2012 25 मई 2014
30 स्मृति ईरानी 26 मई 2014 05 जुलाई 2016
31 प्रकाश जावडेकर 05 जुलाई 2016 30 मई 2019
32 रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ 30 मई 2019 अब तक

            
  • List of Education Minister of India PDF Download 
👇👇👇👇👇
   
  • भारत के शिक्षा मंत्री की सूचि पीडीऍफ़ यहाँ से डाऊनलोड कर सकते है 
👇👇👇👇👇 

भारत के शिक्षा मंत्री वर्ष 2018 से वर्ष 2021 - Bharat Ka Shiksha Mantri Year 2018 to Year 2021


हमारे द्वारा अक्सर देख गया है की विशेष रूप से लोगो के द्वारा Shiksha Mantri of India 2018, Who Is the Education Minister of India 2019, Shiksha Mantri of India 2020, Shiksha Mantri of India 2021 इस प्रकार दे प्रश्नों को सर्च किया जाता है. उसी को देखते हुए हमारे द्वारा उनका अलग अलग जवाब यहाँ बताया गया है. तो आइये आगे देखते है....!


शिक्षा मंत्री कौन है 2018 - Education Minister of India 2018 


आपके सवाल Education Minister of India 2018 (शिक्षा मंत्री कौन है 2018) का जवाब है :- प्रकाश केशव जावड़ेकर (Prakash Javadekar) या इसे ऐसे कह सकते है.

Answer :-

Prakash Javadekar is the Education Minister of India in year 2018.

उत्तर :-

प्रकाश केशव जावड़ेकर वर्ष 2018 में भारत के शिक्षा मंत्री थे.

education-minister-of-india-2019
Education Minister of India 2019

शिक्षा मंत्री कौन है 2019 - Education Minister of India 2019


आगे शिक्षा मंत्री कौन है 2019 (Education Minister of India 2019) इस सवाल को कुछ इस प्रकार दे देखा जा सकता है.


वर्ष 30 मई 2019 तक प्रकाश जावडेकर ने भारत के शिक्षा मंत्री के रूप में कार्य किया. उसके बाद उसके बाद लोकसभा चुनाव हुए और 30 मई 2019 से लेकर वर्तमान में 2021 तक  रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ भारत के शिक्षा मंत्री है.


इसे ऐसे कहा जा सकता है की,


Answer :- 

In year 2019 till 30th May 2019 Mr. Prakash Javadekar was Education Minister of India and after 30th May 2019 Mr. Ramesh Pokhriyal Nishank is Education Minister of India.

उत्तर :- 

दिनांक 30 मई 2019 तक प्रकाश जावडेकर ये भारत के शिक्षा मंत्री रहे और दिनांक 30 मई 2019 के बाद रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ शिक्षा मंत्री कौन है 2019 है. 


शिक्षा मंत्री कौन है 2020 - Education Minister of India 2020


इसमें कोई भी शक नहीं होना चाहिए की, शिक्षा मंत्री कौन है 2020 इसका जवाब एकदम सरल है.


Answer :-  

Education Minister of India 2020 is Shri. Ramesh Pokhriyal Nishank. 

उत्तर :- 

श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ शिक्षा मंत्री कौन है 2020 है. 


शिक्षा मंत्री कौन है 2021 - Education Minister of India 2021


भारत के शिक्षा मंत्री कौन है 2021 के रूप में रमेश पोखरियाल (Ramesh Pokhriyal) है. कवी जगत में इन्हें ‘निशंक’ (Nishank) के नाम से जाना जाता है. दिनांक 31 मई 2019 को इस पद की शपथ ली थी. रमेश पोखरियाल से पूर्व शिक्षा मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर थे. जो भाजपा के वरिष्ठ नेताओ में से एक है. Bharat Ke Pratham Shiksha Mantri मौलाना अबुल कलाम आज़ाद सन दिनांक 15 अगस्त 1947 से 22 जनवरी 1958 तक First Education Minister of India इस पद पर कार्यरत रहे थे. 


Conclusion :- 


आज के इस लेख में भारत के शिक्षा मंत्री कौन है (Bharat Ka Shiksha Mantri Kaun Hai) इस शीर्षक के साथ सफल चर्चा की गयी. Bharat Ke Shiksha Mantri Kaun Hai या भारत का शिक्षा मंत्री कौन है, Who Is the Education Minister of India, Who Is Education Minister of India और Education Minister of India इन प्रश्नों के ऊपर एक विस्तृत प्रकाश डाला गया. 

Post a Comment

1 Comments