Ads

हनुमान चालीसा - Hanuman Chalisa In Hindi - Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics - Hanuman Chalisa In Hindi Pdf

Hanuman Chalisa In Hindi - Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics - Hanuman Chalisa In Hindi Pdf


जय श्री राम मित्रो...! आज इस लेख में Hanuman Chalisa In Hindi और Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics को आपको उपलब्ध करवाने वाले है. इसी के साथ ही Hanuman Chalisa In Hindi Pdf रूप में भी आपको देने वाले है जिसे आप बड़ी ही आसानी से डाऊनलोड कर सकते है.  


हनुमान चालीसा - Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics - हनुमान चालीसा हिंदी में 


हम अपने दैनिक जीवन में हनुमान चालीसा का पाठ तो करते है. मै भी एक हनुमान भक्त हूँ. मैं भी शनिवार और मंगलवार हनुमान चालीसा पढता हूँ. लेकिन अगर हम हनुमान चालीसा पाठ का सम्पूर्ण फल प्राप्त करना है. तो आपको क्या करना चाहिए. 


इसके लिए हनुमान चालीसा के नियम, हनुमान चालीसा की सिद्धि, हनुमान चालीसा पाठ विधि, हनुमान चालीसा पढ़ने का समय आपको बताने वाले है. 


वैसे ही हनुमान चालीसा का महत्व, हनुमान चालीसा के चमत्कार, हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे के बारे में सम्पूर्ण जानकारी बताने वाले है. 


Hanuman Chalisa In Hindi Text - Hanuman Chalisa In Hindi Written - Shri Hanuman Chalisa In Hindi


आइये मित्रो हमारे ईष्ट भगवान पवनपुत्र श्री हनुमान जी इनको प्रसन्न करने के एकमात्र सिद्ध मंत्र हनुमान चालीसा मंत्र को निचे आपके लिए लाये है. जिसे आप गूगल में Hanuman Chalisa In Hindi Text, Shri Hanuman Chalisa In Hindi, Hanuman Chalisa In Hindi Written इस प्रकार से सर्च करते है. 


hanuman-chalisa-in-hindi,hanuman-chalisa-in-hindi-lyrics,hanuman-chalisa-in-hindi-pdf
Hanuman Chalisa In Hindi


तो आइये और इस दिव्य हनुमान चालीसा का हिंदी में जाप करे...! 


दोहा :- 

श्रीगुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुरु सुधारि।

बरनऊं रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।। 


बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार।

बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।। 


चौपाई :-

 

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर।

जय कपीस तिहुं लोक उजागर।।

 

रामदूत अतुलित बल धामा।

अंजनि-पुत्र पवनसुत नामा।।

 

महाबीर बिक्रम बजरंगी।

कुमति निवार सुमति के संगी।।

 

कंचन बरन बिराज सुबेसा।

कानन कुंडल कुंचित केसा।।

 

हाथ बज्र औ ध्वजा बिराजै।

कांधे मूंज जनेऊ साजै।

 

संकर सुवन केसरीनंदन।

तेज प्रताप महा जग बन्दन।।

 

विद्यावान गुनी अति चातुर।

राम काज करिबे को आतुर।।

 

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया।

राम लखन सीता मन बसिया।।

 

सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा।

बिकट रूप धरि लंक जरावा।।

 

भीम रूप धरि असुर संहारे।

रामचंद्र के काज संवारे।।

 

लाय सजीवन लखन जियाये।

श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।

 

रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई।

तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई।।

 

सहस बदन तुम्हरो जस गावैं।

अस कहि श्रीपति कंठ लगावैं।।

 

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा।

नारद सारद सहित अहीसा।।

 

जम कुबेर दिगपाल जहां ते।

कबि कोबिद कहि सके कहां ते।।

 

तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा।

राम मिलाय राज पद दीन्हा।।

 

तुम्हरो मंत्र बिभीषन माना।

लंकेस्वर भए सब जग जाना।।

 

जुग सहस्र जोजन पर भानू।

लील्यो ताहि मधुर फल जानू।।

 

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहीं।

जलधि लांघि गये अचरज नाहीं।।

 

दुर्गम काज जगत के जेते।

सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।।

 

राम दुआरे तुम रखवारे।

होत न आज्ञा बिनु पैसारे।।

 

सब सुख लहै तुम्हारी सरना।

तुम रक्षक काहू को डर ना।।

 

आपन तेज सम्हारो आपै।

तीनों लोक हांक तें कांपै।।

 

भूत पिसाच निकट नहिं आवै।

महाबीर जब नाम सुनावै।।

 

नासै रोग हरै सब पीरा।

जपत निरंतर हनुमत बीरा।।

 

संकट तें हनुमान छुड़ावै।

मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।।

 

सब पर राम तपस्वी राजा।

तिन के काज सकल तुम साजा।

 

और मनोरथ जो कोई लावै।

सोइ अमित जीवन फल पावै।।

 

चारों जुग परताप तुम्हारा।

है परसिद्ध जगत उजियारा।।

 

साधु-संत के तुम रखवारे।

असुर निकंदन राम दुलारे।।

 

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता।

अस बर दीन जानकी माता।।

 

राम रसायन तुम्हरे पासा।

सदा रहो रघुपति के दासा।।

 

तुम्हरे भजन राम को पावै।

जनम-जनम के दुख बिसरावै।।

 

अन्तकाल रघुबर पुर जाई।

जहां जन्म हरि-भक्त कहाई।।

 

और देवता चित्त न धरई।

हनुमत सेइ सर्ब सुख करई।।

 

संकट कटै मिटै सब पीरा।

जो सुमिरै हनुमत बलबीरा।।

 

जै जै जै हनुमान गोसाईं।

कृपा करहु गुरुदेव की नाईं।।

 

जो सत बार पाठ कर कोई।

छूटहि बंदि महा सुख होई।।

 

जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा।

होय सिद्धि साखी गौरीसा।।

 

तुलसीदास सदा हरि चेरा।

कीजै नाथ हृदय मंह डेरा।। 

 

दोहा :- 

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।

राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप।।


Hanuman Chalisa In Hindi Pdf - Jai Hanuman Chalisa In Hindi Pdf - Shri Hanuman Chalisa In Hindi Pdf Format


उपरोक्त Hanuman Chalisa In Hindi आपको आपके जीवन में समृधि की और ले जाये यही हमारी मनोकामना है. लेकिन कुछ लोग Hanuman Chalisa In Hindi Pdf में चाहते है. यदि आप भी Jai Hanuman Chalisa In Hindi Pdf और Shri Hanuman Chalisa In Hindi Pdf Format पाना चाहते है. तो आपको इसके लिए चिंता करने की बात नहीं है. निचे आपको Hanuman Chalisa In Hindi Pdf को डाऊनलोड कर सकते है.  👇👇👀


Download Hanuman Chalisa In Hindi Pdf 👈👈 यहाँ क्लिक करे 


Hanuman Chalisa In Hindi Image - Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics Image - Images Of Hanuman Chalisa In Hindi 


ऊपर अपने Hanuman Chalisa In Hindi Pdf फॉर्मेट में प्राप्त किया. यदि आप Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics Image फॉर्मेट में देखना चाहते है. तो आपको Images Of Hanuman Chalisa In Hindi और Hanuman Chalisa In Hindi Image के फॉर्मेट में भी यहाँ उपलब्ध करवाएंगे. जिसमे आपको साफ-साफ दिखाई देने वाले Font में काफी High Quality की, हनुमान चालीसा लिरिक्स मिलेंगे. निचे इसे डाऊनलोड भी कर सकते है. 👇👇👀


Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics Image 👈👈 यहाँ क्लिक करे 

Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics
Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics

आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

शिव शंकर भोलेनाथ का भजन वीडियो में - Bholenath Song By Lokesh- Shiv Shankar Bholenath Hindi Bhajan

2s In Train क्या होता हैं? What Is 2s In Train - 2s In Train Means जानिए

CC In Train क्या होता हैं - What Is CC In Train - CC In Train Means जानिए  


Hanuman Chalisa In Hindi Hari Om Sharan – श्री हरी ओम शरण जी द्वारा हनुमान चालीसा


आगे इस लेख में श्री हरी ओम शरण जी इनके मधुर स्वरों में Hanuman Chalisa In Hindi लेकर आये है. इस विडियो को T-Series Bhakti Sagar इस YouTube Channel से लिए गया है. जिन्हें हमारे ब्लॉग के इंडियन गप्पा की तरफ से हम धन्यवाद देते है. निचे आप Hari Om Sharan इनके सुमधुर स्वरों में Hanuman Chalisa सुन सकते है. 👇👇👀

 

लता मंगेशकर हनुमान चालीसा - Video Of Hanuman Chalisa In Hindi By Lala Mangeshkar


आगे इस लेख में भारत की स्वर कोकिला लता मंगेशकर इनके मधुर स्वरों में Hanuman Chalisa In Hindi लेकर आये है. इस विडियो को T-Series Bhakti Sagar इस YouTube Channel से लिए गया है. जिन्हें हमारे ब्लॉग के इंडियन गप्पा की तरफ से हम धन्यवाद देते है. निचे आप लता मंगेशकर हनुमान चालीसा सुन सकते है. 👇👇👀


Hanuman Chalisa In Hindi By Gulshan Kumar - गुलशन कुमार हनुमान चालीसा


आगे इस लेख में T-Series के निर्माता श्री गुलशन कुमार इनके मधुर स्वरों में Hanuman Chalisa In Hindi लेकर आये है. इस विडियो को T-Series Bhakti Sagar इस YouTube Channel से लिए गया है. जिन्हें हमारे ब्लॉग के इंडियन गप्पा की तरफ से हम धन्यवाद देते है. निचे आप Hanuman Chalisa In Hindi By Gulshan Kumar सुन सकते है. 👇👇👀


Hanuman Chalisa In Hindi Youtube - Hanuman Chalisa In Hindi Video - हनुमान चालीसा वीडियो में


आगे इस लेख में Hanuman Chalisa In Hindi Youtube को लेकर आये है. इस विडियो को Glare Music Bhakti इस YouTube Channel से लिए गया है. इसके Title है Super Fast Hanuman Chalisa Video जिसमे केवल 2.45 मिनट में हनुमान चालीसा को गया गया है. जिन्हें हमारे ब्लॉग के इंडियन गप्पा की तरफ से हम धन्यवाद देते है. निचे आप सबसे सुपर फास्ट हनुमान चालीसा सुन सकते है. 👇👇👀


हनुमान चालीसा पाठ - हनुमान चालीसा इन हिंदी - हनुमान चालीसा हिंदी में 


उपरोक्त हमारे द्वारा जो Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics की जानकारी प्राप्त की गयी है. इसीमे आगे आपको हनुमान चालीसा गोस्वामी तुलसीदास, हनुमान चालीसा पढ़ने के नियम, हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे, हनुमान चालीसा के उपाय, हनुमान चालीसा पाठ विधि, हनुमान चालीसा के लेखक और हनुमान चालीसा के चमत्कार आदि के बारे में जानकारी देंगे. 


तो आइये शुरू करते है.......!


हनुमान चालीसा गोस्वामी तुलसीदास - गोस्वामी तुलसीदास जी को हनुमान चालीसा कैसे लिखी 


हुआ कुछ ऐसा था की, गोस्वामी तुलसीदास जी को अकबर मुगल सम्राट अपने शाही दरबार में बुलवाया था. वहा पर उनकी मुलाकात अकबर के नवरत्न टोडर मल तथा अब्दुल रहीम ख़ान-ए-ख़ाना से हुई थी. उन्होंने काफी समय तक दोनों से बातचीत की थी.  


जब तुलसीदास जी को बोला गया कि, आप अकबर सम्राट के प्रशंशा में कुछ लिखे तब तुलसीदास जी ने मना कर दिया और कहा की, सिर्फ प्रभु श्रीराम के लिए ही मेरी कलम चलती है. 


इस बात पर अकबर को काफी गुस्सा आया और आगबबुला होकर उसने तुलसीदास जी को फतहपुर सीकरी में अपने किले की जेल में कैद कर दिया था. 


जब तुंलसी दास जी जेल में थे तब उन्होंने हनुमान जी प्रार्थना की कि, प्रभु आपने तो प्रभु श्रीराम को बंधनों से मुक्त कराया फिर मुझे किस गलती की सजा दे रहे हो. मुझे भी आपको मुक्त करवाना ही होगा है. जिस प्रकार प्रभु श्री राम के संकट आपने काटे मेरे भी संकट आप काट दीजिये.


जेल में 40 दिनों तक तुंलसी दास जी लगातार हनुमान जी से यही प्रार्थना करते रहे. उसके बाद ऐसा चमत्कार हुआ की, सम्राट अकबर भी दंग रह गया. 


हुआ यु की, तुलसीदास जहां पर कैद थे उसको बंदरों ने चारो तरफ से घेर लिया था. किले पर बंदरों ने आक्रमण कर दिया. जितने सैनिक उस किले में थे उन सभी को घायल कर दिया था. 


अकबर के मंत्रियो ने उससे कहा की, आप तुलसीदास छोड़ दोगे उसके बाद ही यह बंदर यहां से जाएंगे ऐसा हमें लगता है. 


आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

Benefits Of Yoga In Hindi In References Of Coronavirus -योग के फायदे या लाभ

Mortgage Meaning In Hindi - What Is Mortgage - Mortgage Meaning सटीक जवाब 

भाषा के प्रमुख प्रकार-रूप-भेद | Bhasha Ke Kitne Roop Hote Hain |Bhasha Ke Kitne Bhed Hote Hain 


बंदरों ने अकबर के महल परिसर में भी प्रवेश किया और सैनिकों को चोट पहुंचाने लगे. जब अकबर ने तुलसीदास को छोड़ने का आदेश दिया.


इस पूरे चमत्कारिक घटनाक्रम के बाद तुलसीदास जी काफी प्रेरित हुए और उन्होंने श्री हनुमान चालीसा की रचना की थी.


हनुमान चालीसा के नियम - हनुमान चालीसा पढ़ने के नियम


Hanuman Chalisa In Hindi इस लेख में आगे आपको हनुमान चालीसा पढ़ने के नियम बताने जा रहे है. आप इन हनुमान चालीसा के नियम को ध्यान में रखकर यदि हनुमान चालीसा का पाठ करते है तो आपको मनोकामनाओ की प्राप्ति होगी. निचे हम कुछ हनुमान चालीसा के नियम देख लेते है. 


1. हनुमान चालीसा की चौपाइयों को पढ़ते वक्त उच्चारण की गलतिया ना करे. यदि आपको हनुमान चालीसा याद ना हो तो देखकर पढ़े लेकिन उच्चारण की गलतिया ना करे


2. हनुमान चालीसा में चौपाइयों होती है उसे आप बिलकुल शांत मन से पढ़े.


3. आप चालीसा को दिन में तीन बार पढ़ें ये हनुमान चालीसा पढ़ने महत्वापूर्ण नियम है.


4. हमे सुबह नहाकर बाद हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए. इसमें विशेष ध्यान रहे की, आप  साफ सुथरे कपड़े पहने हुए हो. 


5. हनुमान जी का उपवास महिलाओं को नहीं रखना चाहिए क्योंपकि माहवारी के चलते यदि किसी मंगलवार वे उपवास नहीं पायेगी तो व्रत खंडित हो जाता.


6. हनुमान चालीसा का पाठ करने से पहले महिलाओं को अपने सामने एक कलश में पानी भर कर रख लेना चाहिए और पूर्ण चालीसा पढ़ने के बाद उस जल को प्रसाद के रूप में ग्रहण कर लेना चाहिए.


7. शास्त्रों  के अनुसार ऐसा बताया गया है की, पीपल के पेड़ के नीचे बैठकर हनुमान जी का पाठ करना चाहिए 


8. हनुमान चा‍लीसा का पाठ करते समय लाल रंग के वस्त्रा पहनना चाहिए.


9. हनुमान चा‍लीसा का पाठ करने के बाद श्री हनुमान जी को गुड़ या बूंदी का प्रसाद चढ़ाएं.


10. महिलाएं हनुमान जी को प्रणाम करते वक्तक सिर न झुकाएं इसका ध्याबन रखें. क्योंरकि सभी महिलाओं को हनुमान जी माता के स्था न पर रखते हैं. इसके लिए आप पूरे दिन मन में ‘राम-राम’ का जाप करें.


हनुमान चालीसा के लाभ - हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे जानिए 


हमारे Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics के इस लेख में आगे आपको हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे और हनुमान चालीसा के लाभ बताने वाले है. यदि आप नियमित हनुमान चालीसा का पाठ करते है तो ये आपके लिए ही है. 


1. नासै रोग हरै सब पीरा, जपत निरंतर हनुमत बीरा:-  

नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करने वालो को कोई भी रोग और कष्ट नहीं सताता है. इसीलिए तो कहा जाता है की, “नासै रोग हरै सब पीरा, जपत निरंतर हनुमत बीरा”


2. भूत पिशाच निकट नहीं आवै महावीर जब नाम सुनावै :- 

जो व्यक्ति हनुमान चालीसा का पाठ करता है उसे भुत और प्रेत बाधाओं से मुक्ति मिल जाती है. 


3. नकारात्मकता दूर हो जाती है :- 

नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करने वाले जीवन में नकारात्मकता से दूर रहते है और उनके जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है. 


4. नई ऊर्जा का हो है संचार :- 

हनुमान चालीसा के नियमित पाठ से आपके जीवन में रहने वाले भय दूर हो जाते हैं. वैसे ही हनुमान चालीसा का पाठ जीवन में एक नई ऊर्जा का संचार करने वाला है. 


5. मनोकामनाएं पूरी होती हैं :- 

हमारा सभी को यदि सुझाव है की, हनुमान चालीसा का नियमित रूप से पाठ किया करे. इसके अनेकों फायदे आपके जीवन में मिलेंगे. हनुमान चालीसा के पाठ से आपके मन में आत्मविश्वास निर्माण होगा और आपकी मनोकामनाओं की पूर्ति होगी. 


हनुमान चालीसा के उपाय - हनुमान चालीसा प्रयोग कैसे करे


हनुमान चालीसा का पाठ शांतिपूर्वक और पवित्र भावना से करने से ही हनुमानजी की कृपा प्राप्त होगी. इसीलिए हनुमान चालीसा प्रतिदिन संध्यावंदन के साथ पढ़ना चाहिए. संध्यावंदन का अर्थ शाम को की जाने वाली आरती से है. ये घर में या मंदिर में सुबह-शाम की जाती है. इस प्रकार हनुमान चालीसा प्रयोग हमें करना चाहिए. जो हमें हमारे सभी प्रकार के दुःख और कष्टों से मुक्ति दिलाती है. 


हनुमान चालीसा पाठ विधि - हनुमान चालीसा का पाठ कैसे करे


1. सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और साफ वस्त्र पहन लें.


2. अपना मुंह पूर्व दिशा में या दक्षिण दिशा में रखकर लाल आसन पर बैठें.


3. हनुमान जी की फोटो को पूर्व या दक्षिण दिशा में लाल वस्त्र बिछाकर रखें.


4. हनुमान जी के सामने 3 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें इसके पहले आप एक लोटे में जल भरकर रखें साथ में गाय के घी या तिल के तेल का दिया जलाएं.


5. गुड़ या बूंदी के लड्डू का भोग लगाए. ऐसा गुड़ या बूंदी के लड्डू का भोग 11 मंगलवार लगातार करने से हनुमान जी की कृपा प्राप्त होती है.


हनुमान चालीसा का महत्व - Hanuman Chalisa In Hindi में जानिए 


Hanuman Chalisa In Hindi इस लेख में आपको आगे -----हनुमान चालीसा का महत्व बताएँगे. जो की हमारे पौराणिक मान्यताओं और वर्तमान जीवन में हमारे अनुभव के आधार पर आपको बताने जा रहे है. 


1. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार देवताओं के द्वारा हनुमानजी को शक्तिया प्रदान करते समय जो मंत्र और बजरंगबलि की विशेषताओं, उन्हीं मंत्रों और विशेषताओ के सार को श्री गोस्वामी तुलसीदास ने हनुमान चालीसा में समाहित किया है. दरअसल हनुमान चालीसा में मंत्र न होकर हनुमानजी के पराक्रम की विशेषताएं बतलाई गई हैं.


2. ज्योतिषविद् अनीष व्यास के अनुसार हनुमान चालीसा एक बेहद सहज और सरल बजरंगबली की आराधना में की गई एक काव्यात्मक 40 छंदों वाली रचना है. तुलसीदासजी बचपन से ही प्रभु श्रीराम और श्री हनुमान के भक्त थे. श्रीराम जी की कृपा से उन्होंने महाकाव्यों की रचना की थी. मान्यता है कि हनुमान चालीसा के पाठ से घर-परिवार में सुख-समृद्धि के साथ आरोग्य का वास होता है और कई तरह की तकलीफों का नाश हो जाता है. हनुमान चालीसा के पाठ से अशांत मन को शांति मिल जाती है. हर तरह के भय का नाश भी हनुमान चालीसा के पाठ से से हो सकता है.


3. शनि के कष्टों से मुक्ति के लिए हनुमान चालीसा का पाठ सनातन संस्कृति में विशेष महत्व बतलाया गया है. हनुमान चालीसा का पाठ एकाग्रचित्त होकर और श्रद्धापूर्वक करने से बड़ी से बड़ी व्याधियों से छुटकारा मिल जाता है.


4. यदि आपके जिंदगी में हो रहे तनाव की में हनुमान चालीसा के पाठ से मन को काफी शांति का अनुभव होता है.


5. यदि हम कोई यात्रा में जा रहे है तब हनुमान चालीसा का पाठ करके यात्रा करने से उसके सफल होने के योग निश्चित ही बढ़ जाते हैं.


6. श्री हनुमान जी बल और बुद्धि के देवता हैं. इसलिए इसका पाठ करने से हमें बल और बुद्धि की प्राप्ति हो सकती है। 


7. हनुमान चालीसा सभी दैवीय गुणों से निर्मित और ओतप्रोत होने के कारण हनुमान चालीसा पाठ नियमों के साथ, संयम रखकर, श्रद्धापूर्वक करने से हमें अलौकिक शक्ति का अनुभव होता है.


8. हनुमान चालीसा को पढने से मन, शरीर और आपके घर-परिवार की नकारात्मकता दूर होकर सकारात्मकता का प्रवाह होता है.


9. रात्रि के समय हनुमान चालीसा का पाठ 8 बार पढ़ने से सभी तरह के पापों से मुक्ति मिल सकती है. ऐसे भी मान्यता है कि, जो मनुष्य रात्रि के समय हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं. उनकी रक्षा स्वयं महाबली श्री हनुमान जी करते हैं.


हनुमान चालीसा के लेखक - हनुमान चालीसा की रचना किसने की


आज के इस लेख Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics में यदि आप जानना चाहते है की, हनुमान चालीसा की रचना किसने की, क्यों और कैसे की? तो आपको Secret Mysteries इस YouTube Channel का विडियो जरुर देखना चाहिए. 👇👇👀


 

हनुमान चालीसा पढ़ने का समय - Hanuman Chalisa In Hindi


यदि आप हनुमान चालीसा पढ़ने का समय जानना चाहते है तो, आपको बता दे की, Hanuman Chalisa के पाठ कोई भी निश्चित समय निर्धारित नहीं है. क्योकि हम तो जब चाहे श्री हनुमान जी को पुकार सकते है. इसमें भी भला कोई समय देखने की जरुरत होती है. 


लेकिन फिर भी यदि आप हनुमान चालीसा का पाठ ब्रम्हमुहूर्त में करते है तो आपको विशेष लाभ प्राप्त होता है. उसी प्रकार आप हनुमान चालीसा का पठन संध्या में भी कर सकते है. 


हनुमान चालीसा के चमत्कार - Hanuman Chalisa In Hindi


इस लेख में आगे आपको हनुमान चालीसा के चमत्कार के बारे में बताएँगे. यदि आप पीपल के पेड़ के नीचे हनुमान चालीसा का पाठ करते है तो, श्री हनुमान के साथ ही शनि देव और देवी लक्ष्मीह का आशीर्वाद भी आपको प्राप्त होता है. 


यदि आपको Hanuman Chalisa के चमत्कार को जानना है तो ऊपर हमारे इसी लेख के सेक्शन हनुमान चालीसा गोस्वामी तुलसीदास इसमें जाकर पढ़े ये चमत्कार ऐतिहासिक दृष्टी से महत्वपूर्ण है. जिसमे सम्राट अकबर को भी गोस्वामी तुलसीदास जी भक्ति के आगे झुकना ही पड़ा था और उसके बाद ही Hanuman Chalisa का निर्माण हुआ. 


Conclusion :- 


आज हनुमान चालीसा - Hanuman Chalisa In Hindi इस लेख में Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics और Hanuman Chalisa In Hindi Pdf फॉर्मेट में आपको उपलब्ध करवाया गया है. उसी के साथ ही हनुमान चालीसा के नियम, हनुमान चालीसा पाठ विधि, हनुमान चालीसा का महत्व, हनुमान चालीसा की सिद्धि, हनुमान चालीसा के चमत्कार, हनुमान चालीसा पढ़ने का समयहनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे के बारे में जानकारी दी गयी. "जय श्री राम" कमेन्ट करना न भूले...!  

Post a Comment

0 Comments