Ads

पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है - दिलचस्प जानकारी

पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता - पुरुषों में शुक्राणु कितना होना चाहिए 


आज के लेख में आपके लिए एक गंभीर विषय के बारे में चर्चा करेंगे. जो हर विवाहित जोड़े से जुड़ा है क्योकि हर नवविवाहित महिला बच्चे को जन्म देना चाहती है. उनसे ही जुड़ा ये विषय है पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है ? या फिर यु कहे की, पुरुषों में शुक्राणु कितना होना चाहिए


इस विषय पर आज विस्तृत चर्चा करेंगे. जिसमे स्पर्म बनने में कितना समय लगता है, प्रेग्नेंट होने के लिए स्पर्म कितना होना चाहिए और लड़का पैदा करने के लिए स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए इस प्रकार के कुछ सवालो के भी जवाब देने की सफल कोशिश करेंगे.

पुरुष-का-स्पर्म-कितना-होना-चाहिए-जिससे-बच्चा-ठहर-सकता
पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है


पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए - स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए


जब हम किसी से ये सवाल करते है की, पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए इसका मतलब साफ होता है की, हम उससे यही जानना चाहते है पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है. किन्तु सभी लोग अपने-अपने बोलचाल की भाषा और समझ के आधार पर ही इस सवाल को पूछ लेते है. जिनके कुछ उदहारण हम निचे देख लेते है :-


जैसे 1.शुक्राणु कितना परसेंट होना चाहिए, 2. Male Motility Kitni Honi Chahiye, 3. स्पर्म की मात्रा कितनी होनी चाहिए, 4. सीमेन कितना होना चाहिए, 5. नार्मल स्पर्म कितना होना चाहिए, 6. नार्मल स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए इस प्रकार से पूछते है. 


लेकिन उपरोक्त सभी सवालो में उनका पूछने का मतलब एक ही होता है की, पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है या नहीं.  


अब आपको सवाल बिलकुल स्पष्ट हो गया होगा ऐसा हमें लगता है और हमारे द्वारा सवाल पर ही ज्यादा जोर इसीलिए दिया जाता है. क्योकि यदि हम सवाल को पहले स्पष्ट कर दे तो हमें जवाब देने में और आपको जवाब पाने में आसानी हो जाएगी. 


तो आइये आगे बढ़ते है.....!

  

प्रेग्नेंट होने के लिए स्पर्म कितना होना चाहिए - सीमेन कितना होना चाहिए – प्रस्तावना


बच्चे का पिता और माता बनाना हर एक नवदम्पति का सपना होता है. जिसकी भी नयी नयी शादी होती है तब उसके मन में सबसे पहले ख्वाब यही होता है. लेकिन कुछ कारणों से उनके इस सपने को पूरा होने में रूकावट आती है. जैसे की, पत्नी में कमी या फिर पति में कुछ कमी होती है. जिस प्रकार पत्नी में कमी होती है उसी प्रकार से कभी-कभी पति में भी कुछ कमी हो सकती है. वैसे ये वर्तमान में भागदौड भरी जिंदगी में इस प्रकार की समस्या आम बात है.


यदि पति में किसी बात की कमी है तो उसमे साधारण रूप से यह समस्या वर्तमान में कॉमन हो चुकी है जिसमे “शुक्राणु का परसेंट” कम होना जिसे डॉक्टरी भाषा में “स्पर्म काउंट”(Sperm Count) कहते है. जिसका सीधा संबंध पुरुष के वीर्य से होता है जिसे हम इंग्लिश में सीमेन (Semen) कहते है


प्रेग्नेंट-होने-के-लिए-स्पर्म-कितना-होना-चाहिए
प्रेग्नेंट होने के लिए स्पर्म कितना होना चाहिए


इसी विषय में हम आज चर्चा करने वाले है जैसा की आप इस लेख का शीर्षक पुरुषों में शुक्राणु कितना होना चाहिए से आप जान ही गए होंगे. तो इसमें नार्मल स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए इस बारे में आगे जानेंगे. 


नार्मल स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए - नार्मल स्पर्म कितना होना चाहिए – संक्षिप्त जवाब


तो आइये सबसे पहले नार्मल स्पर्म कितना होना चाहिए इस सवाल का संक्षिप्त जवाब जान लेते है उसके बाद इस पर विस्तृत चर्चा करंगे.   


यदि आप एक स्वस्त पुरुष है तो वीर्य (Semen) में 40 मिलियन से 300 मिलियन (40 Million to 300 Million) के बीच में स्पर्म प्रति मिलिलीटर (Per Milliliter) होना चाहिए. यदि 15 मिलियन से निचे है तो ये अच्छा नहीं माना जाता है. यदि स्पर्म काउंट 20 मिलियन है तो प्रेग्नेंसी के पर्याप्त हो सकता है.


नार्मल-स्पर्म-काउंट-कितना-होना-चाहिए
नार्मल स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए


आपको जवाब मिल ही गया होगा की, पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है :- 


जवाब:- 40 मिलियन से 300 मिलियन (40 Million to 300 Million) के बीच में स्पर्म प्रति मिलिलीटर (Per Milliliter) होना चाहिए. 


स्पर्म की मात्रा कितनी होनी चाहिए - Pregnant hone Ke Liye – विस्तृत जवाब 


सम्पूर्ण विश्व में अत्यंत चिंता का विषय बना दिखाई देता है की, पुरुषों के शुक्राणुओं की संख्या में गिरावट की रिपोर्ट दिन प्रतिदिन बढ़ रही है. यदि ऐसा है तो शुक्राणुओं की संख्या (Sperm Count) में कमी आने का सीधा प्रभाव उस देश के लोगो की प्रजनन क्षमता पर पड़ता है.


आपको ये जानना जरुरी है की, स्पर्म काउंट मतलब शुक्राणु कितना होना चाहिए या कितनी है इसका संबंध आपके और हमारे खान-पान और दिनचर्या से भी है. क्योकि आप और हम जो खाते हैं उसी पर हमारे शरीर की सम्पूर्ण गतिविधियां निर्धारित होती हैं. यदि आपके भोजन  में वसा की अधिकता है तो आपका स्पर्म काउंट निश्चित कम होता चला जायेगा. 


अमेरिका के एक जानेमाने फ़र्टिलिटी क्लिनिक में 99 पुरुषों पर की गयी शोध में इस बात का खुलासा हुआ की, जिन लोगो के भोजन में जंकफूड की अधिकता थी. उनमे सभी में शुक्राणु की गुणवत्ता काफ़ी कमज़ोर पाई गयी थी.


एक शोध में ये भी पाया गया की जिनके शरीर में “ओमेगा-3 फैटी एसिड” प्रचुर मात्रा में होता है उनमे शुक्राणु की गुणवत्ता बेहतरीन होती है. और ये एसिड वनस्पतियों और मछली के तेल में भरपूर मात्र में होता है.


इस शोध के अनुसार जो अधिक वसा को ग्रहण करते हैं उनका स्पर्म काउंट (Sperm Count) 43 फ़ीसदी कम होता है और उनमे शुक्राणु की सघनता भी कम होती है. जो पुरुष “ओमेगा-3 फैटी एसिड” पर्याप्त मात्रा में ग्रहण करते हैं उनके स्पर्म की गुणवत्ता काफ़ी बेहतरीन होती है.


पुरुष-का-स्पर्म-कितना-होना-चाहिए
पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए


कुछ शोध में ये भी कहा गया है की, यदि स्पर्म काउंट (Sperm Count) होती गिरावट नहीं थमी तो मानव प्रजाति एक दुर्लभ प्रजाति बनकर रह जाएगी. जैसे यूरोप, उत्तरी अमरीका, न्यूज़ीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के पुरुषों में पिछले 40 वर्षो से कम समय के दौरान स्पर्म काउंट (Sperm Count) लगभग आधा हो गया है.


पुरुष का शुक्राणु तब महिलाओं के फलोपीअन ट्यूब में तत्काल तैरने लगता है जब पुरुष के वीर्य में पांच करोड़ से 15 करोड़ तक शुक्राणु की संख्या होती है. वैसे ये सब कुछ इतना भी आसान नहीं होता है. एक ही स्पर्म महिलाओं के अंडाणु के लिए पर्याप्त होता है ये भी अनेको केसेस में देखा गया है.


इसीलिए कुछ विशेषज्ञों की राय में सामान्य शुक्राणु घनत्व (नार्मल स्पर्म काउंट फॉर प्रेगनेंसी) 15 मिलियन से लेकर 200 मिलियन शुक्राणु प्रति मिलीलीटर वीर्य तक होता है. उसी प्रकार यदि आपके पास प्रति मिलीलीटर (per milliliter) 15 मिलियन से कम शुक्राणु या प्रति स्खलन (per ejaculate) कुल 39 मिलियन से कम शुक्राणु हैं तो आपको कम शुक्राणुओं की संख्या माना जाता है. लेकिन ऐसा भी नहीं है की, ये बात सभी में सटीक बैठ जाये. 


लेकिन पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है? इस सवाल का सटीक और विस्तृत जवाब आपको बताये तो वो कुछ इस प्रकार है:-


यदि आप एक स्वस्त पुरुष है तो वीर्य (Semen) में 40 मिलियन से 300 मिलियन (40 Million to 300 Million) के बीच में स्पर्म प्रति मिलिलीटर (Per Milliliter) होना चाहिए. यदि 15 मिलियन से निचे है तो ये अच्छा नहीं माना जाता है. यदि स्पर्म काउंट 20 मिलियन है तो प्रेग्नेंसी के पर्याप्त हो सकता है. यदि स्पर्म प्रति मिलिलीटर 10 मिलियन से 20 मिलियन के बीच है तो इसे खराब यानि लो स्पर्म काउंट माना जाता है.


लड़का पैदा करने के लिए स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए : YouTube की राय


जैसा की इस सेक्शन को पढ़कर आप यदि समझ रहे की, आपको लड़का पैदा करने के लिए स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए ? इस बारे में बताने वाले है तो आप बिलकुल गलत है. क्योकि स्पर्म काउंट से या नहीं बताया जा सकता है की आपको लड़का होने वाला है या लड़की. 


यदि आप हमारे नियमित पाठक होने तो आपको पता ही होगा की हमारे लेख में किसी भी गैरकानूनी बात के बारे में जानकारी नहीं दी जाती है. आपको इस बात की भी जानकारी होनी चाहिए की, गर्भपरिक्षण करवाना कानूनन अपराध है. हमें लड़का और लड़की में भेदभाव नहीं करना चाहिए. 


लेकिन आपको हम यहाँ निराश नहीं करेंगे और इस सेक्शन में Sehat Rahat इस YouTube Channel के जल्दी Pregnant होने के लिए पुरुष में शुक्राणु संख्या कितना होना चाहिए ? इस विडियो को लेकर आये है. जो आप निचे देख सकते है. 👇👇👀


इसी के साथ Google के बाद दुसरे सबसे बड़े सर्च इंजिन होने के साथ YouTube पर एक ही विषय पर ढेरो विडियो मिल जाएगी. तो इसी विषय से जुडी Normal Pregnancy के लिए कितने Sperm Count होने चाहिए? ये जानकारी Dr Richika Sahay Shukla इनके Youtube Channel से लाये है जिसका नाम India IVF Fertility है. निचे देख सकते है. 👇👇👀


(Purush Ka Sparm) स्पर्म बनने में कितना समय लगता है ? 


इस लेख में हम पुरुष के स्पर्म के बारे में जानकारी से रूबरू है. पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए ये उपर हमने जाना. लेकिन आपसे कोई इंग्लिश में ये सवाल पूछता है की, “How Long Does It Take for Sperm to Regenerate” और इसका जवाब आपको पता नहीं होता है तो आपको डरने की बात नहीं है. इसका मतलब होता है की, पुरुष का स्पर्म बनने में कितना समय लगता है? तो आइये जान लेते है. 


मनुष्य का शरीर वैसे तो प्रतिदिन स्पर्म (शुक्राणु) का उत्पादन करता हैं. किन्तु एक मनुष्य में स्पर्म के स्खलन के बाद स्पर्म को पुन: बनने अर्थात “पूर्ण शुक्राणु पुनर्जनन चक्र” (शुक्राणुजनन) में लगभग 64 दिन का समय लगता हैं.


आपको आपके सवाल का जवाब मिल गया होगा. वो जवाब है:- पुरुष का स्पर्म बनने में 64 दिन का समय लगता है.


शुक्राणुजनन का मतलब शुक्राणु के उत्पादन और परिपक्वता तक पहुचने के चक्र से है. शुक्राणुजनन हमारे शरीर को लगातार शुक्राणु की आपूर्ति करता है. वही शुक्राणु योनि के रस्ते से महिला के अंडाशय में एक अंडे तक पहुचता है और गर्भधारण होता है.


स्पर्म-बनने-में-कितना-समय-लगता-है
स्पर्म बनने में कितना समय लगता है


नए शुक्राणु पैदा होने की प्रक्रिया हमारे अंडकोष में लगातार शुरू होती हैं. नए स्पर्म (वीर्य) के निर्माण की प्रक्रिया लगभग 64 दिनों में पूर्ण होती हैं.


शुक्राणुजनन के चलते, हमारे अंडकोष प्रतिदिन सैकड़ो मिलियन शुक्राणु बनाते हैं. जिनकी संख्या लगभग प्रति सेकंड 1,500 शुक्राणु होती है.


एक “पूर्ण शुक्राणु उत्पादन चक्र” की समाप्ति तक एक सामान्य मनुष्य लगभग 8 बिलियन शुक्राणु तक उत्पन्न कर सकता हैं.


आपको यह बात अतिश्योक्ति लग सकती है, किन्तु यह सत्य है. एक सामान्य मनुष्य अपने वीर्य के एक मिलीलीटर स्खलन से 20 से 300 मिलियन शुक्राणु कोशिकाओं को बाहर छोड़ देते हैं. 


आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

अनवांटेड किट खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है – जानिए

25 + तरीके Online Paise Kaise Kamaye - घर बैठे पैसे कैसे कमाए - हिंदी में सीखे 

Password Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain - सटीक जवाब बिना बकवास


स्पर्म उत्पादन के लिए चक्र क्या है? – What Is The Cycle Of Sperm Production?

शुक्राणु पुनर्जनन चक्र में निम्न बाते शामिल हैं :- 

1. द्विगुणित शुक्राणु कोशिकाओं का विभाजन अगुणित शुक्राणुओं में होता है जो आनुवंशिक डेटा ले जा सकता है. 


2. पुरुष के अंडकोष में शुक्राणु की परिपक्वता (विशेष रूप से अर्धवृत्त नलिकाओं में) नहीं हो जाती तब तक हार्मोन इस प्रक्रिया के माध्यम से शुक्राणुओं की सहायता करते हैं. शुक्राणु जब तक लगभग परिपक्व नहीं हो जाते है  तब तक वे अंडकोष में बने रहते हैं 


3. शुक्राणु एक परिपक्व हो जाता तब उसमे आनुवंशिक सामग्री वाला एक सिर होता है तथा वो शुक्राणु को महिला शरीर के माध्यम से निषेचन के लिए शुक्राणु की यात्रा में सहायता करने के लिए एक पूंछ भी होती है.


5. एपिडीडिमिस वह जगह भी है जहां शुक्राणु गतिशीलता हासिल करते हैं ये अंडकोष से जुड़ी एक ट्यूब है जो शुक्राणु को स्टोर करती है. ये एपिडीडिमिस स्खलन होने तक शुक्राणु को संरक्षण प्रदान करता है. शुक्राणु यहाँ स्थानांतरित करने की क्षमता हासिल करते हैं. यह उन्हें स्खलन के दौरान वीर्य में छोड़ने पर तैरने में सक्षमता प्रदान करता है.


आपका स्पर्म काउंट कितना है ये कैसे पता करे? शुक्राणु कितना परसेंट होना चाहिए


आपको बता दे की, स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए? इस बात को अपने ऊपर बता दिया गया है. लेकिन आपको ये पता करना है की, आपका स्पर्म काउंट कितना है? इस बारे में आपको जानकारी आगे बताने जा रहे है. 


महत्वपूर्ण बात ये है की, एक स्वस्थ स्पर्म काउंट लगभग 29 Million होना चाहिए. यदि इससे कम स्पर्म काउंट है तब आपको इसे बढ़ाने की आवश्यकता है. यदि आपका स्पर्म काउंट 40 Million तक है तो आपका बिलकुल हेल्थी स्पर्म काउंट है.

आपका-स्पर्म-काउंट-कितना-है-ये-कैसे-पता-करे
आपका स्पर्म काउंट कितना है ये कैसे पता करे?


आपका स्पर्म काउंट कितना है? ये पता करने के लिए आपको डॉक्टर ही जाना होगा. वहा से डॉक्टर के द्वारा चट्ठी बनाकर दी जाएगी. उस चिट्ठी के माध्यम से आपको पेथोलोजी में जाकर स्पर्म टेस्ट करवाना होगा. उसके बाद पेथोलोजी से स्पर्म टेस्ट रिपोर्ट मिलेगी. उसके बाद आपके डॉक्टर आपको बताएँगे की, आपका Sperm Count कितना है

 

आगे जान लेते है की, गर्भावस्था के लिए स्पर्म काउंट यदि कम है तो इन्हें कैसे बढायें.  👇👇👀


आपका स्पर्म काउंट को कैसे बढाया जाए : Pregnancy Ke Liye Sperm Count Kitna जरुरी है 


यदि अपना स्पर्म काउंट आप बढ़ाना चाहते है तो सर्वप्रथम आपको किसी डॉक्टर की सलाह से एक विश्वसनीय पेथोलोजी में स्पर्म टेस्ट करवाना होगा. उसमे आपको पता चलेगा की आपका स्पर्म काउंट कम है या ज्यादा है. यदि स्पर्म काउंट कम है तो आगे की जानकारी आपके लिए है.  


1. अपना स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए एक अच्छे फैट की आवश्यकता होगी. फैट ज्यादातर ड्राई फ्रूट्स खाने से मिलता है. यदि आपका आपका स्पर्म काउंट कम है तो, आपको ड्राई फ्रूट्स खाना शुरू करने की अत्यंत जरुरी है.


2. आपको अपने खाने का रूटीन नियमित करना पड़ेगा. खाना सही समय पर ही खाना चाहिए. ये भी स्पर्म काउंट बढ़ाने में काफी सहायता करता है. 

आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए -Sex After Period एक महत्वपूर्ण सवाल 

प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए [Pregnancy And Sex] गर्भावस्था और संभोग


4. स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए ढूध की मात्रा पर्याप्त होनी चाहिए और नियमित रूप से इसका सेवन भी करना चाहिए.


5. स्पर्म काउंट को बढ़ाने में फाइबर और प्रोटीन की मात्रा शरीर में बढ़ानी चाहिए. इसीलिए आप अपना खानपान अच्छा रखकर फाइबर और प्रोटीन की आपूर्ति अपने शरीर में करनी है. 

 

पुरुष का स्पर्म काउंट कम होने के नुकसान : Male Motility Kitni Honi Chahiye


जिस पुरुष में स्पर्म काउंट या शुक्राणु की कमी होती है उसे इस बात के क्या नुकसान उठाने पड़ते है. इस बारे में आगे जानकारी देखेंगे. 


1. स्पर्म काउंट या शुक्राणु की कमी के चलते आप बांझपन के शिकार हो सकते है. 

2. शुक्राणु की कमी से बाँझपन ही नहीं पुरुषों में दूसरी बीमारी के जोखिम को भी बढ़ा देता है.


3. एक नविन अध्ययन में ये बात सामने आयी है कि, Low Sperm Count या शुक्राणुओं की कमी वाले पुरुषों में मधुमेह और हृदय रोग जैसी संभावित बीमारियों का खतरा बना रहता है. 


4. एक शोध में ये भी पाया गया कि, जिन लोगो में शुक्राणुओं की संख्या कम होती है उनमे में कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप और शरीर का मोटापा बढ़ने की बीमारी होने का चांस प्रतिशत 20 अधिक है.

 

5. अल्बटरे फेरलिन की मुताबिक पुरुषों में स्पर्म की कमी हृदय जोखिम, मेटाबॉलिक परिवर्तन और हड्डी के द्रव्यमान में कमी से ताल्लुक रखता है. इटली के ब्रेशिया विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर श्री अल्बटरे फेरलिन के अध्ययन में ये बात स्पष्ट हुई है. इसके लिए शोधकर्ताओं ने इस अध्ययन में कुल 5,177 बांझ दंपतियों के पुरुषों पर यह अध्ययन किया था. 

 

पुरुष का स्पर्म काउंट (नार्मल स्पर्म काउंट फॉर प्रेगनेंसी) : वैज्ञानिकों की चेतावनी 


पुरुष का स्पर्म काउंट के बारे में बहुत से अध्ययन होते आये है. हाल ही में किये गए अध्ययन में ये रौचक बात सामने आयी है की, वैश्विक रूप में विगत कुछ वर्षों में पुरुष के स्पर्म काउंट और उसकी क्वालिटी में गिरावट आयी है. 


इस बात पर विशेष ध्यान देते हुए बहुत से वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है की, पुरुष के स्पर्म काउंट और उसकी क्वालिटी में आयी गिरावट सम्पूर्ण मानव जाति के लिए भविष्य में एक बड़ी समस्याओं और चेतावनी का संकेत हो सकती है. इस सब लिए मानव की बिगड़ती लाइफस्टाइल को सबसे बड़ा कारण बताया गया है.


लड़का-पैदा-करने-के-लिए-स्पर्म-काउंट-कितना-होना-चाहिए
लड़का पैदा करने के लिए स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए


पुरुषों में ऑटोइम्यून या हार्मोनल एबनॉर्मिलिटी बढती जा रही हैं जिसके कारण शुक्राणु उत्पादन में बाधा होती हैं या यु कहे की ये शुक्राणु को नष्ट कर देती हैं. इसके अलावा अनावश्यक तनाव, शराब का सेवन और बढ़ता मोटापा जैसे कारण भी हमारी प्रजनन क्षमता को प्रभावित करते हैं. 


नार्मल स्पर्म काउंट फॉर प्रेगनेंसी के बारे में वैज्ञानिकों ने चेतावनी के साथ ही कुछ सुझाव भी जरुर दिया है. जो निचे आपको बता रहे है :-


1. बहुत से अध्ययन में यह पाया गया है की, शुक्राणु उत्पादन के लिए कम तापमान का होना अनिवार्य होता है. जब आप अत्यधिक गर्म पानी से नहाते है तब आपके अंडकोष का तापमान बाधित होता है जिससे आपके स्पर्म काउंट पर सीधा प्रभाव पड़ता है. 

2. उपरोक्त बात को ध्यान रखते हुए गर्म पानी से भी नहाने से बचें.

3. आपको हमारा सुझाव है की, यौन संक्रमण से बचकर रहें.

4. सबसे बड़ी बात शराब का सेवन बिल्कुल बंद कर दे. 

5. शराब के सेवन से आपके टेस्टास्टरोन हॉर्मोन्स में गिरावट आती है और आपको बता दे की, हॉर्मोन का सीधा संबंध आपकी यौन क्षमता से है.

6. इसके लिए ख़ुद को फिट रखना जरुरी है और अपनी तोंद नहीं निकलने दें.

7. आप नियमित रूप से कसरत करने की आदत डाले, लेकिन बहुत ज़्यादा मात्रा में कसरत नहीं करें इस बात का भी ध्यान रखे. 

8. आपकी नींद का सीधा संबंध आपकी सेहत से होता है. 

9. यदि आप प्रतिदिन 7 से 8 घंटे की नींद नहीं लेते हैं तो ये आपकी प्रजनन क्षमता पर असर करता हैं.

10. एक अध्ययन में ये बात आयी है की, जो व्यक्ति हर दिन 6 घंटे से भी कम नींद लेते हैं उन व्यक्तियों की प्रजनन क्षमता में 31 प्रतिशत कम संभावना देखी गई. आपके द्वारा ली गयी बेहतर नींद आपकी सेहत के साथ-साथ आपकी प्रजनन क्षमता को भी दुरुस्त रखने में सहायता देगा.

11. एक छोटा लेकिन अच्छा उपाय वो ये की, ज्यादा टाइट अंडरवेयर नहीं पहनें.

 

पुरुषों में स्पर्म बढ़ाने के उपाय - पुरुषों में शुक्राणु कैसे बढ़ाये? 


आज के लिए का विषय पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है? ये है लेकिन इसी के साथ ही आपको पुरुषों में शुक्राणु कैसे बढ़ाये? इस बारे में भी अतिरिक्त जानकारी देने वाले है. तो आइये निचे देख लेते है....!


1. सिगरेट और अल्कोहल का सेवन न करे:-  


सिगरेट और शराब पिने की आदत कब एक बुरी लत में बदल जाती है पता ही नहीं चलता है. इसका असर आपके शरीर पर तो पड़ता ही है वैसे ही आपका घर भी तबाह हो जाता है. 


यदि एक बार नशे की आदत लगने पर इससे निकल पाना काफी मुश्किल हो जाता है. यदि अप स्पर्म बढ़ाने के बारे में सोच रहे हैं तब आपको बता दे की, सबसे पहले आपको सिगरेट और शराब जैसी बुरी आदतों से दूर होना होगा. 


शराब की आदत लिवर, फेफड़े जैसे शरीर के महत्वपूर्ण अंग को बर्बाद कर देती हैं, बल्कि आपकी प्रजनन क्षमता को भी काफी प्रभावित करती हैं.


2. जंक फूड का अधिक सेवन न ही करे तो बेहतर :- 


यदि आपके लिए “जंक फूड” ये शब्द नया होगा तो बता दे की, इसका अर्थ हमारे शरीर को हानि पहुचाने वाले भोजन से है. इस भोजन में पोषक तत्वों की मात्रा कम होती है जिस कारण ये हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है. 


देखिये जंक फूड, शुगर, कैफीन और प्रोसेस्ड फूड यह यह सब ऐसी चीजें है, जिसके कारण आपका “स्पर्म काउंट” में कमी आ सकती है. इसलिए जंक फूड का अधिक नहीं करना चाहिए. वैसे ही जंक फूड के अधिक सेवन से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है इसका मुख्य कारण फूड में ट्राइग्लिसेराइड और कोलेस्ट्रॉल की प्रचुर है.


3. अपने वजन पर नियत्रण रखे:- 


आपके स्पर्म काउंट को बढ़ाने के लिए वजन कम करना ही सबसे असरदार उपाय है. बहुत से अध्ययनों से सिद्ध हुआ है कि, वजन को घटाने से सीमेन या वीर्य की मात्रा और उसकी गतिशीलता और स्पर्म की समग्र स्वास्थ्य में वृद्धि हो सकती है.


4. पौष्टिक और संतुलित आहारों का सेवन करे:- 


विटामिन और पौष्टिकता से भरपूर आहार स्पर्म बढ़ाने के लिए सबसे बेहतरीन उपाय है. ये पोष्टिक आहार हरी पत्तेदार सब्जियां तथा फल वैसे ही ड्राई फ्रूट आदि भी हो सकते है. विटामिन डी, विटामिन सी, विटामिन ई यह सब स्वस्थ स्पर्म के लिए महत्वपूर्ण हैं. 


इसके साथ ही मछली का तेल में पायेजाने वाला “ओमेगा -3 फैटी एसिड” भी स्वस्थ पुरुष प्रजनन के लिए जरुरी हैं. 


5. स्वस्थ शुक्राणुओं के लिए अंडे का सेवन:- 


अन्डो में प्रोटीन व विटामिन ई की मात्रा भरपूर होती है. जो स्वस्थ शुक्राणुओं के उत्पादन में काफी सहायक होते हैं. उसी प्रकार ये नार्मल स्पर्म काउंट फॉर प्रेगनेंसी को बढ़ाने में हेल्प करने के साथ ही प्रजनन क्षमता हो हानि पहुचाने वाले फ्री रेडिकल्स से लड़ने में भी कारगर होता हैं. इसी कारण दो अंडे प्रतिदिन ग्रहण कीजिए.


6. डार्क चॉकलेट सेवन और एंटीऑक्सिडेंट्स:- 


डार्क चॉकलेट्स में पाए जाने वाले अमिनो एसिड्स स्पर्म काउंट को बढाकर दोगुना कर देते है. उसके साथ ये वीर्य (सीमन) को गाढ़ा करने में भी सहायता करते हैं. 


दूसरी बात डार्क चॉकलेट में प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स भी होते हैं. जो पुरुषों की फर्टिलिटी को कम करने वाले फ्री रेडिकल्स को दूर करने में सहायक होते हैं. 


लेकिन आपको ये भी ध्यान रखना है की, चॉकलेट का सेवन अधिक नहीं करना है, क्योकि वज़न बढ़ने की सम्भावना होती है. वजन बढ़ने से शरीर में आवश्यक “टेस्टोस्टेरॉन” सेक्स हार्मोन में असंतुलन निर्माण होता है और स्पर्म काउंट की संख्या कम हो जाती है. इसीलिए एक टुकड़ा डार्क चॉकलेट दिनभर में काफ़ी है. 


सबसे महत्वपूर्ण बात भी जानिए की, चॉकलेट जितना डार्क उतना ही स्पर्म काउंट बढ़ाने में फ़ायदेमंद होगा.


7. केला खाने से बढती है कामेच्छा:- 


पुरुषों के सेक्सुअल हेल्थ के लिए केला यह फल बहुत लाभदायक होता है. इसका आकार भी कभी आकर्षक होता है. इसमें ब्रोमेलिन नामक एंज़ाइम की प्रचुर मात्रा होती है. ये एंज़ाइम पुरुषों की कामेच्छा में वृद्धि करके सेक्स हार्मोन्स को नियंत्रित करने में सहायता करता है. इसके साथ ही इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी, विटामिन ए और विटामिन बी 1 भी पाया जाता है. जिससे केला खाने से पुरुषों के शरीर में शुक्राण पैदा करने की क्षमता को बढ़ाता जा सकता है.


8. लहसुन के सेवन से शुक्राणुओं को मिले गतिशीलता:- 


यदि लहसुन की तेज़ खशबू से आपको परेशानी नहीं होती है तो आप लहसुन का सेवन शुरू कर दीजिए. इसमें दो गजब के सत्व पाए जाते हैं. पहला “एलिसिन”, जो सेक्सुअल ऑर्गन में रक्त प्रवाह बढ़ाता है और स्पर्म को क्षतिग्रस्त होने से बचाये रखता है. दूसरा “सेलेनियम”, जो एक प्रकार का एंटीऑक्सिडेंट का कार्य करते हुए शुक्राणुओं की गतिशीलता को बढ़ाता है. इसीलिए रोज दो लहसुन की कलियां जरुर खाए.


9. ब्रोकोली और शुक्राणुओं की गतिशीलता:- 


यदि आपके शरीर में विटामिन-ए की कमी हो जाती है तो आपकी प्रजनन क्षमता में भी कमी आने की सम्भावना है. इस कमी की पूर्ति करने के लिए अपने भोजन में विटामिन-ए से युक्त ब्रोकोली शामिल करें. इसका सेवन करने से ऐक्टिव व हेल्दी शुक्राणु का निर्माण होगा.


10. कद्दू के बीज खाए सेक्स हार्मोन्स बढ़ाये:- 


कद्दू के बीज में ओमेगा-थ्री फैटी एसिड्स होते है. जो पुरुष के ऑर्गन्स में रक्त संचार को बढ़ाते हैं. प्रतिदिन आप एक मुठ्ठी कद्दू के बीज का सेवन करे और कुछ दिनों बात आपके शरीर में टेस्टोस्टेरॉन नामक सेक्स हार्मोन की वृद्धि होकर आपका स्पर्म काउंट बढ़ जायेगा.


11. टेस्टोस्टेरॉन के लिए जिनशेंग का सेवन:- 


जिनशेंग इस चमत्कारी पौधे का इनफर्टिलिटी की समस्या में काफी सालो से उपयोग किया जा रहा है. जिनशेंग पाउडर रात में सोने से पहले आधा चम्मच नियमित सेवन करे या फिर जिनशेंग युक्त चाय का सेवन करे. इससे पुरुषों के शरीरी में टेस्टोस्टेरॉन का लेवल बढ़ाता है और जनांगों में रक्त प्रवाह की गति बढ़ जाती है. जिसके चलते एक स्वस्थ स्पर्म काउंट का निर्माण होता है. 


12. पालक खाए और स्पर्म को रखे स्वस्थ:– 


आपको तो ये मालूम ही होगा की, पालक में शुक्राणुओं के लिए ज़रूरी पोषक तत्व फॉलिक एसिड की मात्रा अधिक होती है. इसीलिए पलक स्वस्थ शुक्राणु के उत्पादन में सहायक होता है. किसी के शरीरी में फॉलिक एसिड की कमी होती है तब अस्वस्थ शुक्राणु जन्म लेते हैं जो बच्चेदानी में अन्डो तक नहीं पहुंच पाते है.


13. अखरोट खाए और स्पर्म काउंट बढ़ाये:- 


आपको बता दे की, अखरोट में भी ओमेगा-थ्री फैटी एसिड्स की प्रचुर मात्रा होती है. ओमेगा-थ्री फैटी एसिड्स के फायदे आपको ऊपर बताये ही गए है. इसलिए आपको रोज एक मुट्ठी अखरोट खाना है जिससे शुक्राणुओ की संख्या में बढ़ोतरी होगी और उनमे परिपक्वता निर्माण होगी.


आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

2s In Train क्या होता हैं? What Is 2s In Train - 2s In Train Means जानिए

CC In Train क्या होता हैं - What Is CC In Train - CC In Train Means जानिए  

SL In Train क्या होता हैं - What Is SL In Train - SL In Train Means जानिए 


पुरुषों में स्पर्म बढ़ाने के अन्य घरेलू उपाय भी जाने 


आगे इस सेक्शन में पुरुषों में शुक्राणु या फिर स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए कुछ घरेलु उपचार भी आप कर सकते है. जिसकी जानकारी आपको बताने वाले है जिसके कोई भी साइड इफ्फेक्ट आपके शरीर पर नहीं पड़ेंगे. लेकिन फिर भी आपको ये ध्यान रखना है की, ये उपाय अपने डॉक्टर की सलाह से ही करे. 


1. एक चम्मच शहद में एक चम्मच प्याज़ का रस और अदरक का रस मिलाकर चटनी की तरह चाट-चाट कर खाए आपको काफी फ़ायदा मिलेगा.


2. एक ग्राम जावित्री, एक ग्राम इलायची के दानें और 10 ग्राम मिश्री को मिला ले. उसके बाद 5 बादाम का पेस्ट बनाये. इस पेस्ट में आपके मिश्रण को मिलाकर सुबह खाली पेट सेवन करे.


3. 4 से 5 बादाम को रातभर पानी में भिगोकर रखे. प्रातः में उसे पीसकर महीन पेस्ट बना ले. उसके बाद एक ग्लास दूध में उस पेस्ट को डालकर उबाल ले. इस दूध को ठंडा करके उसमें एक चम्मच देसी घी और मिश्री डालकर सेवन करिए.


4. अश्वीगंधा, शतावरी और सफेद मूसली को मिलाकर पाउडर बना ले. इस मिश्रण को सुबह-शाम तीन-तीन ग्राम एक गिलास दूध में ग्रहण करे.


5. प्रतिदिन आधा ग्राम जायफल का पाउडर पानी के साथ सेवन करे.


 

नार्मल स्पर्म काउंट फॉर प्रेगनेंसी के लिए कुछ बाते ध्यान रखे : हमारे पाठको के अनुभव

आज के लेख में ------प्रेग्नेंट होने के लिए स्पर्म कितना होना चाहिए? इस बारे में आपको जानकारी हमारे द्वारा दी गयी है. लेकिन हमारे द्वारा अपने पाठको में ही एक सर्वे करवाया था की, ------नार्मल स्पर्म काउंट फॉर प्रेगनेंसी को बनाये रखने के लिए क्या बात जरुरी है. 


इस बारे में कुछ आपके क्या अनुभव है. इसके द्वारा हमें जो उनके अनुभव बताये गए उन्हें कुछ मुद्दों के आधार पर आपके सामने रखने जा रहे है. 


1. नार्मल स्पर्म काउंट के लिए हमे योग और आसन नियमित रूप से करना चाहिए. जिसमे भस्त्रिका प्राणायाम, सूर्यनमस्कार, हलासन, धनुरासन व सेतूबंघासन आदि आसन हमें करना चाहिए. जिससे आपकी प्रजनन क्षमता व शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाने में सहायता मिलेगी. 


2. अपने आप को तनाव से दूर रखे. यदि आप हमेशा तनाव में रहते है तो आपके शरीर में शुक्राणुओं की संख्या और उनकी गुणवत्ता पर बुरा असर पड़ता है.


3. आपको स्पर्म काउंट नार्मल रखना है तो शराब और सिगरेट का सेवन से दूर रहे. 


4. आपको एकदम टाईट अंडरवियर नही पहनना है. वैसे ही रात में जीन्स जैसे टाईट कपडे पहनकर न सोये. एकदम कंफर्टटेबल पायजामा आदि पहनकर सोने की कोशिश करे. 


5. यदि आपको लैपटॉप आदि पर कार्य करना पड़ता है तो लैपटॉप अपनी जांघ पर रखकर काम नही करें.


6. अपने मोबाइल को ज्यादातर अपनी पैंट के जेब में न रखें. इससे भी शुक्राणु का परसेंट कम होता है.


7. ल्यूब्रिकेन्ट का प्रयोग अत्यधिक मात्रा में नहीं करना है. इसके अत्यधिक प्रयोग से शुक्राणु में कमी आ सकती हैं.


8. आप अपने खान-पान में सोया मिल्क का प्रयोग न करें. क्योंकि सोया मिल्क शुक्राणुओं को हानि पहुंचाते हैं.


9. आपको स्टीम बाथ या सोना बाथ से बचना है. यदि आप हफ़्ते में एक स्टीम बाथ लेते है तो ठीक है.  किन्तु आपको ये भी जान लेना चाहिए की. 40 डिग्री से या उससे ज्यादा गर्म पानी से नहाने से शुक्राणुओं की संख्या में कमी आ सकती है.

 

10. यदि आप पूरे दिनभर सक्रिय रहते हैं तो इससे आपको स्पर्म की मात्रा बढ़ाने में सहायता  मिलेगी. स्वस्थ जीवनशैली और व्यायाम करने से शुक्राणुओं को बढ़ाने में बहुत मदद मिलती है. इसीलिए हमें नियमित रूप से व्यायाम की आदत डालनी जरुरी है. 


11. ज़्यादा चाय या कॉफी पीने से परहेज करे. वर्तमान में हुए एक अध्ययन से इस बात का भी पता चला है, जो पुरुष रोज़ाना चार कप या उससे अधिक कॉफी पीते हैं, ऐसे पुरुषो में शुक्राणुओं की संख्या व गुणवत्ता कम होती है. 


नोट: आपको किसी भी दवा को डॉक्टर की सलाह से ग्रहण करना है. इस लेख में जानकारी देने के उद्देश्य से लिखा गया है. हमारी कोई भी सलाह को मानाने के लिए न तो आप बाध्य है न ही हमारी कोई जबरदस्ती है. 


Conclusion :- 


आज के लेख पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है - दिलचस्प जानकारी में पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए और नार्मल स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए इस बारे में सटीक जानकारी आपके सामने रखी गयी है. वैसे ये सवाल तो नवविवाहित जोड़े से सम्बंधित था. परन्तु फिर भी पुरुषों में शुक्राणु कितना होना चाहिए ? इस प्रश्न का जवाब सभी व्यक्तियों के हिसाब से दिया गया है. याने वो विवाहित हो अथवा नहीं हो. इसके साथ ही स्पर्म बनने में कितना समय लगता है, लड़का पैदा करने के लिए स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए और प्रेग्नेंट होने के लिए स्पर्म कितना होना चाहिए इस तरह के कुछ विचित्र सवालो को भी इसमें सम्मिलित किया गया.

Post a Comment

0 Comments