Ads

प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए [Pregnancy And Sex] गर्भावस्था और संभोग

प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए - Sex During Pregnancy - Sex During Pregnancy Is Safe


आज के नविन लेख में हमारे द्वारा आपको प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए? इस सवाल का सटीक जवाब बताने वाले है. वैसे ही प्रेगनेंसी में पति से कब दूर रहना चाहिए, Sex After PregnancySex During Pregnancy, Sex During Pregnancy Is Safe, Is It Safe To Have Sex During Pregnancy, Sex During Pregnancy Safe Or Not, Can We Do Sex During Pregnancy, When To Stop Sex During Pregnancy, Can We Have Sex During Pregnancy और गर्भावस्था में संभोग करना सही है या गलत है इस प्रकार के दुविधा से भरे सवालों के बारे में विस्तृत चर्चा करेंगे. 


संभोग मनुष्य जीवन को चलायमान रखने के लिए आवश्यक क्रिया है. किन्तु संभोग के लिए प्रचलित शब्द सेक्स (Sex) को उपयोग किया जाता है. इससे जुड़े बहुत से सवाल Google पर रोज ही पूछे जा रहे है. जिन सवालों को आपको ऊपर बताया ही गया है.


प्रेग्नेंट-होने-के-कितने-दिन-बाद-संबंध-बनाना-चाहिए,sex-during-pregnancy-is-safe,when-to-stop-sex-during-pregnancy,प्रेग्नेंट-होने-के-बाद-कितने-दिन-तक-संबंध-बनाना-चाहिए,प्रेगनेंसी-के-कितने-दिन-बाद-संबंध-बनाना-चाहिए
प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए


उपरोक्त सभी सवालो का सार एक है की, जब भी हमारा वैवाहिक साथी प्रेग्नेंट (Pregnant) हो जाता है उस प्रेग्नेंसी (Pregnancy) के दौरान शारीरिक संबंध (Physical Relationship) संबंध बनाना चाहिए या नहीं बनाना चाहिए? 


महत्वपूर्ण बात ये भी है की, सेक्स या संभोग का जुडाव केवल शारीरिक सुख से नहीं वरन भावनाओं से भी जुडाव होता है. प्रेग्नेंसी (Pregnancy) के समय महिलाओ के शरीर में अनेको बदलाव देखने को मिल सकते हैं. जिसमे हार्मोनल बदलाव और शारीरिक बदलाव शामिल होते हैं इसके चलते उन्हें Physical Relationship की जरूरत महसूस होती है. इसी दौरान महिलाओं को सेक्स में अधिक आनंद मिलता है. 


इस आनंद का मुख्य कारण जननांगों में बढ़ा हुआ रक्त प्रवाह और स्तन अधिक संवेदनशील होता हैं. आगे प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए इस सवाल के जवाब के पहले आपको गर्भावस्था में संभोग का मतलब आपको समझाते है. 


प्रेग्नेंट होने के बाद संबंध बनाना या गर्भावस्था में संभोग का अर्थ (Sex During Pregnancy Meaning in Hindi)


प्रेग्नेंट होने के बाद संबंध बनाना या गर्भावस्था में संभोग का अर्थ कुछ इस प्रकार स्पष्ट किया जा सकता है. महिला और पुरुष के बिच में सेक्स होने के बाद जब महिला प्रेग्नेंट हो जाती है. इस गर्भावस्था के समय हमें यदि सेक्स करना है इसे हम गर्भावस्था में संभोग कहेंगे.

इस बारे में लोगो के मन में बहुत से आशंकाए बनी हुई होती है. जो इस प्रकार होती है :-


1. प्रेग्नेंट होने के बाद संबंध बनाने से क्या गर्भपात होने का खतरा होता है.

2. प्रेग्नेंट होने के बाद संबंध बनाने से क्या शिशु पर किसी तरह का बुरा प्रभाव पड़ सकता है.

3. गर्भावस्था में संभोग किसी विशेष पोजीशन में करना है जिससे सब कुछ ठीक रहे. 

4. गर्भावस्था के समय संभोग करने पर महिला के स्वास्थ्य पर कोई प्रभाव पड़ सकता है. 


आशंकाए इस के कारण ही गर्भावस्था और संभोग (सेक्स करना) के बारे में प्रेग्नेंट होने के बाद कितने दिन तक संबंध बनाना चाहिए या प्रेगनेंसी के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए इस प्रकार के सवाल आपके मन में घूमते रहते है. 


जिसका जवाब आपको पहले संक्षिप्त रूप में देंगे उसके बाद उसकी विस्तृत चर्चा आगे करेंगे.

 

प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए – संक्षिप्त जवाब 


आइये आपको प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए? इस सवाल का संक्षिप्त जवाब बताते है. 


तो इसका जवाब है:- 👇👀👇

ऐसे कोई भी सटीक दिन नहीं बताये जा सकते है की, प्रेग्नेंट होने के इतने ही दिनों बाद महिला और पुरुष को संबंध बनाना चाहिए और कब ये संभोग सुरक्षित होगा.


निचे के जवाब पर भी गौर करे:-👇👀👇

प्रेग्नेंसी के दौरान सुरक्षित और आरामदायक संभोग ही अच्छा होता है और यही संभोग आनंददायक भी होता है. इससे माता और बच्चे दोनों को नुकसान नहीं होता है. साथ ही प्रसव के समय प्रेग्नेट महिला को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना भी नहीं करना पड़ता है. इसमें कोई दोहराय नहीं की, स्वस्थ गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाना सुरक्षित है, किन्तु फिर भी आपको इसके लिए डॉक्टर  से सलाह लेना जरूरी है.


प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए – विस्तृत जवाब 


उपरोक्त संक्षिप्त जवाब Can We Have Sex During Pregnancy और When To Stop Sex During Pregnancy इस प्रकार से सवालों के पर भी सटीक बैठते है. उसी प्रकार Can We Do Sex During Pregnancy और Can We Have Sex After Pregnancy इस सवाल के जवाब में भी हम आपको वही जवाब बताएँगे. क्योकि ये सभी एक दुसरे से मिलते जुलते ही प्रश्न है.


लेकिन आगे जब हम प्रेग्नेंट होने के बाद कितने दिन तक संबंध बनाना चाहिए इसके विस्तृत जवाब की चर्चा करते है तब हमें Sex After Pregnancy How Long to Wait, Is It Safe To Have Sex During Pregnancy, Sex During Pregnancy Safe Or Not और Sex During Pregnancy Is Safe इन सभी बातो पर ध्यान रखना पड़ेगा. जब हम अपने विस्तृत चर्चा में उपरोक्त सभी प्रश्नों को ध्यान में रखकर बात करेंगे तब ही इस चर्चा को सार्थकता मिलेगी. 


Is It Safe To Have Sex During Pregnancy


यदि आप चाहे तो अपना समय बचाने के लिए Garbh Guru इस YouTube Channel के विडियो को भी देख सकते है. जिसमे DrPriyankaYadav इनके द्वारा इसी विषय पर चर्चा की गयी है. यदि विडियो नहीं देखना चाहते आपको पढना ही पसंद है तो आगे बढ़ सकते है. 👇👇👀



तो आइये विस्तृत जवाब की चर्चा शुरू करते है.  👇👇👀


प्रेगनेंसी में पति से कब दूर रहना चाहिए? संबंध बनाना (सेक्स करना) चाहिए या नहीं? 


प्रेग्नेंसी के किसी भी पड़ाव पर संबंध बनाने (सेक्स करना) से कोई खतरा नहीं होता है ऐसा बहुत से विशेषज्ञों का मानना है. लेकिन फिर भी वे सलाह देते है की, गर्भावस्था में प्रेग्नेंट होने के बाद महिलाओं को अनेको सावधानियां लेनी पड़ती है. इस समय हुई एक गलती आपके लिए अनचाहे गर्भपात का कारण बन सकती है. 


प्रेग्नेंट होने के बाद संबंध बनाना (सेक्स करना) किसी भी स्तर पर याने हर तीन महीने पर सुरक्षित होता है और आपके होने वाले बच्चे पर कोई भी नुकसान नहीं होगा. गर्भावस्था में संभोग करना इस बात पर महिलाओं को एक भयावह दर्द या गर्भपात का डर बना रहता है. 


किन्तु आपको बता दे की सभी के लिए ये बात सामान रूप से लागु नहीं होती है. यदि आपके प्रेग्नेंसी में कोई दूसरी परेशानी नहीं हैं ऐसा कुछ भी नहीं होता है. 


यदि आपको इस बारे में डर हैं की, कोई समस्या निर्माण न हो तो आप अपने डॉक्टर जरुर बात करिए. इस बारे में सटीक सलाह आपके डॉक्टर ही दे सकते है क्योकि उनके पास आपकी पूरी हिस्ट्री होती है. 


MyUpchar के डॉ. विशाल मकवाना के अनुसार Sex During Pregnancy Is Safe (प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना सही है?


डॉ. विशाल मकवाना जो MyUpchar से जुड़े है उनके अनुसार महिलाओ की मांसपेशियां प्रसव के लिए मजबूत हो जाती हैं और इम्यून सिस्टम मजबूत होता है जब वो प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करते है.ये उसका एक फायदा है. 


उसी प्रकार सेक्स करने पर भ्रूण को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचता है. क्योंकि संभोग इस क्रिया में हमारे शरीर के अंग उपयोग होते हैं. इस प्रक्रिया का आपके भ्रूण से कोई ताल्लुक नहीं है. आपके पेट में बच्चे के आजू-बाजु एमनियोटिक द्रव का घेरा होता है. जो उसे सुरक्षित रखता है. गर्भाशय में वह एमनियोटिक थैली से लिपटा हुआ होता है. सेक्स के दौरान केवल पेनेट्रेशन योनि में होता है इसीलिए गर्भाशय पर इसका कोई भी असर नहीं होता है.


लेकिन आगे उन्होंने ये भी बताया और आगाह किया की, प्रेग्नेंसी के अवस्था में सुरक्षित शारीरिक संबंधों पर विशेष ध्यान दे. क्योंकि इस वक्त सेक्स के कारण होने वाली बीमारी होती है जिसे मेडिकल भाषा में एस.टी.डी. यानी “सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज” कहते है. जिससे आपको मुश्किल हो सकती है. इसके लिए आप कंडोम का उपयोग करें और अपने नाजुक अंगों की सफाई सुथरा रखने की ओर विशेष ध्यान रखे. 


सेक्स (संभोग) के दरम्यान अपनी पॉजिशन का विशेष ध्यान रखिये और आरामदायक पोजीशन ही चुने. ऐसी पोजीशन बिलकुल न करे जिससे कोख पर दबाव पड़े. विशेष बात ये की, इस दौरान महिलाओं को पीठ के बल लेटने से बचना चाहिए.


आगे डॉ. मकवाना बताते है की, प्रेग्नेंसी के दौरान Oral सेक्स ही सुरक्षित होता है. लेकिन पार्टनर योनि में हवा न डाले इसका ध्यान रखें. ऐसा होता है तो योनि में हवा के बुलबुले निर्माण होकर रक्त वाहिका में रुकावट हो सकती हैं. यह रुकावट बच्चे के लिए हानिकारक हो सकती है.


जब महिलाओ की योनि से रक्त बह रहा है तब सेक्स की क्रिया बिल्कुल नही करें. इससे आगे परेशानी बढ़ सकती है. यदि भ्रूण में बच्चे को आवरण देकर उसकी रक्षा करने वाला तरल पदार्थ लीक हो रहा है संबंध नहीं बनाना चाहिए. आपके लिए यही बेहतर होगा. 


यदि गर्भाशय ग्रीवा नाजुक स्थिति में है. तब सेक्स क्रिया बच्चे पर बुरा असर डाल सकती है. वैसे ही इससे पहले गर्भपात हुआ है तो दोनों ही स्थिति में आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी ही चाहिए.


जीवन के सबसे महत्वपूर्ण दौर में आपके पार्टनर और आपके के बीच सामंजस्य का होना अत्यंत आवश्यक है. प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना ही चाहिए ये कोई जरुरी नहीं है. आप दोनों को एक-दूसरे की जरूरत और स्थिति को समझकर आत्मीयता बनाए रखना आवश्यक है. इसीलिए सयंम रखिये और पार्टनर से जरूर बात करें


गर्भावस्था में सेक्स करना (संबंध बनाना) सुरक्षित है एक्सपर्ट्स की राय जानिए (Is sex During Pregnancy Safe or Not in Hindi)


प्रेगनेंसी के अवस्था में महिला अपने स्वास्थ्य से ज्यादा अपने बच्चें के स्वास्थ्य को लेकर बहुत चिंतित रहती है. जैसा की ऊपर हमारे द्वारा डॉ. विशाल मकवाना के अनुसार Sex After Pregnancy के बारे में बताया गया. एक्सपर्ट्स की राय के अनुसार गर्भावस्था में सेक्स करना तब तक सुरक्षित माना जाता है, जब तक आपके डॉक्टर आपको मना नही करें. एक्सपर्ट्स की राय में कुछ ऐसी स्वास्थ्य परेशानियों है जिसके चलते गर्भावस्था में संभोग करना नहीं चाहिए. निचे आप देख सकते है. 


1. जब पानी की थैली फट गयी हो. 

2. यदि महिला की गर्भाशय ग्रीवा सामान्य न हो.

3. जब आपको या आपके पार्टनर को कोई यौन संचारित बीमारी हो. 

4. जब अचानक ही महिला के योनि से रक्त स्राव होने लगे. 

5. यदि इसके पहले महिला का गर्भपात हुआ हो. 

6. यदि आपका बच्चा समय से पहले पैदा हुआ हो ऐसी हिस्ट्री हो. 


गर्भावस्था में यौन संबंध बनाना सुरक्षित है या नहीं? अन्य विशेषज्ञों की राय


आपको Pregnancy Me Sambhog Karna Chahiye? इस बारे में काफी विशेषज्ञों की राय एक जैसी है तो कुछ अलग राय रखते है. गर्भावस्था प्रत्येक महिला के लिए एक नाजुक दौर होता है. आगे हम समझेंगे कि, गर्भावस्था में यौन संबंध बनाना सुरक्षित है या नहीं? और इसके लिए किन बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है:-


1. गर्भावस्था में संभोग सुरक्षित होता है, लेकिन तब तक ही जब तक आप स्वस्थ महसूस करे या फिर आपके डॉक्टर आपको मना नहीं कर देते. लेकिन ऐसी नोबत न आने दे अपने आप पर सयंम रखिये.


2. एमनियोटिक थैली वह तरल पदार्थ की थैली होती है जिसमें भ्रूण होता है. इसी एमनियोटिक थैली और गर्भाशय की मजबूत मांसपेशियों के कारण भ्रूण सुरक्षित अवस्था में रहता है. इसी कारण उसके संक्रमित होने की सम्भावना कम होती है. 

sex-during-pregnancy-safe-or-not-गर्भावस्था-में-संभोग-करना-
गर्भावस्था में सेक्स करने के फायदे


3. इसके अलावा, यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपको किसी स्वास्थ्य समस्या से ग्रसित ना हो लेकिन फिर भी डॉक्टर की राय जरूर ले लीजिये.


4. इस बात पर भी ये निर्मर करता है की आप किस पोजीशन में शारीरिक संबंध बना रहे हैं. 


गर्भावस्था में संभोग करना चाहिए? इसके अन्य पहलु (Other Sides of Is It Safe To Have Sex During Pregnancy) 


आप जिस भी ईश्वर को मानते हो. उस बनाने वाले ने महिलाओ के शरीर की बनावट ही कुछ इस प्रकार से बनायीं है की, गर्भाशय में शिशु एक सुरक्षा कवच में रहता है. यही सुरक्षा कवच शिशु को गर्भाशय सभी प्रकार के संक्रमण से बचाए रखने में सहायता करता है. 


वैसे भी बड़े-बड़े स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार पहले तिमाही (प्रथम तिन महीनो में) गर्भावस्था में संभोग (सेक्स) कर सकते है और यह बिलकुल सुरक्षित होता है


उसी प्रकार दूसरी तिमाही में महिला का पेट अधिक बाहर निकला हुआ नहीं होता है और सेक्स करने में असुविधा निर्माण नहीं होती है बल्कि इससे अधिकतर महिलाओं को आरामदायक महसूस होता है. 


लेकिन एक बाद ध्यान देने वाली है की, गर्भावस्था की तीसरी तिमाही (अंतिम तिन महीनो में) सेक्स करना उचित नहीं होता है. इसका कारण महिला का पेट बाहर निकला हुआ होना है. जिससे महिला में अधिक थकान महसूस होती है. इस स्थिति में सेक्स करने में असुविधा होती निर्माण है. 

आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करना चाहिए – मासिक धर्म - Menstrual Cycle In Hindi - जानिए 

पीरियड के बाद बच्चेदानी का मुंह कितने दिन तक खुला रहता है - सटीक जवाब

अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है? – जानिए

पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है - दिलचस्प जानकारी 

पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए [Sex After Period]  एक महत्वपूर्ण सवाल 

पीरियड मिस होने के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे - प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए


प्रेगनेंसी के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए – किन स्थितियों में गर्भावस्था में संभोग करना इग्नोर करे 


किसी भी महिला के लिए प्रेग्नेंसी एक सामान्य अवस्था की तरह ही होती है. इस दौरान महिला और पुरुष जब भी चाहे संभोग कर सकती हैं और इससे कोई नुकसान नहीं होता है. किन्तु कुछ विशेष परिस्थितियों में सेक्स नहीं करना चाहिए इस बात का ध्यान रखना पड़ता है. गर्भावस्था में शारीरिक संबंध कब नहीं बनाने चाहिए? उन परिस्थितियो के बारे में निचे जानेंगे. 


1. यदि आपको पहले गर्भपात हो चुका हो या फिर गर्भपात होने की आशंका हो.

2. यदि गर्भावस्था के 37वें हफ्ते से पहले ही डिलेवरी हो जाने की आशंका बढ़ जाए.

3. यदि बिना कारण के योनि से फिर ऐंठन या रक्तस्राव होने की समस्या हो.

4. यदि एमनियोटिक थैली में से तरल पदार्थ का रिसाव होने शुरू हो जाये. 

5. यदि गर्भाशय ग्रीवा समय से पहले ही ओपन हो जाए.

6. यदि प्लेसेंटा प्रिविया की समस्या आपको हो.

7. यदि आपके गर्भाशय में जुड़वां या उससे ज्यादा भ्रूण हों.


प्रेग्नेंट होने के बाद कितने दिन तक संबंध बनाना (सेक्स करना) चाहिए – सवाल और जवाब 


अभी तक हमारे द्वारा इस लेख में प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए? इस सवाल के बारे में जाना लेकिन इस सेक्शन में प्रेग्नेंट होने के बाद कितने दिन तक संबंध बनाना चाहिए इस बारे में जानेंगे. 


मनुष्य के शरीर के लिए सेक्सद एक स्वाोभाविक जरूरत है इसी कारण प्रेग्नेंसी के दरम्यान 9 से 10 महीनो तक सेक्स से पूरी तरह से मुह मोड़ लेना संभव नहीं हो सकता है. 


प्रेग्नें सी के दौरान अधिकतर नवविवाहितो में यही डर रहता है कि, इस समय सेक्स करने से कहीं भ्रूण याने हमारे बच्चे को कोई नुकसान तो नहीं होगा? 


इसीलिए उन सभी नवविवाहितो को हमारी एक ही सलाह है की, प्रेग्नेंट होने के बाद अपने जीवनसाथी और अपने बच्चे को नुकसान तो न पहुचे इसीलिए पुरे 9 से 10 महीनो तक संबंध नहीं बनाना चाहिए. 


वैसे उपरोक्त हमारे द्वारा बताये अनुसार तो प्रेग्नेंट होने के बाद संबंध बनाने से कोई भी नुकसान नहीं होता है. लेकिन वर्तमान युग में जब नहीं नहीं बीमारियों का प्रसरण हो रहा है इसमें अपने आप पर संयम रखना ही उचित है. 


प्रेग्नेंसी के शुरुआत के 3 महीने में महिलाओ ने मॉर्निंग सिकनेस और कमजोरी के कारण संभोग तो करना ही नहीं चाहिए. और प्रेग्नेंसी के अंतिम तिन महीनों में भी सेक्स करने की रिस्क नहीं लेनी चाहिए. वैसे इससे कोई नुकसान नहीं होता है लेकिन महिलाओ ने अपनी शारीरिक ताकत को देखते हुए इस क्रिया को करना चाहिए. 


अभी तक इस लेख में हमारे द्वारा Sex During Pregnancy Is Safe और प्रेगनेंसी के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए के बारे में जाना आगे हम गर्भावस्था में सेक्स करने के फायदे याने Benefits of Sex During Pregnancy के बारे में जानेंगे.


तो आइये आगे बढ़ते है……..!


प्रेग्नेंट होने के बाद संबंध बनाने के फायदे - Benefits of Sex During Pregnancy in Hindi (गर्भावस्था में सेक्स करने के फायदे)


वर्तमान में ऐसे बहुत से नवविवाहित जोड़े है जिन्होंने अपने मन में धारणा बना ली है की, प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना याने गर्भावस्था के दौरान सेक्स करना हमारे होने वाले बच्चे के लिए हानिकारक होता है. 


आज उनके इसी धारणा को कुछ हद तक समाप्त करेंगे और Benefits of Sex During Pregnancy बताएँगे. 


1. प्रेगनेंसी के चलते सेक्स करने से महिला को बहुत मानसिक शुख और आराम मिलता है और अच्छी नींद आती है. प्रेगनेंसी के चलते संभोग करने से गर्भवती महिला को आराम मिलता है और नींद भी अच्छी आती है.


2. प्रेगनेंसी में यौन संबंध से रक्तचाप सामान्य बना रहता है. जो गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद साबित होता है क्योंकि अधिक रक्तचाप होने से “प्रीक्लेम्पसिया” की समस्या का जोखिम हो सकता है.


गर्भावस्था-में-सेक्स-करने-के-फायदे
गर्भावस्था में सेक्स करने के फायदे


3. प्रेगनेंसी में अधिकतर महिलाएं तनाव महसूस करती है ऐसे में संभोग तनाव से मुक्ति दिलाने में सहायता करता है. संभोग क्रिया से ऑक्सीटॉसिन हार्मोन का निर्माण होने के साथ-साथ तनाव में कमी आने लगती है. यह महिला और पुरुष में प्यार को बढ़ाता का कार्य करता है. 


4. यदि प्रेगनेंसी में महिला की रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित हो रही है तो सेक्स करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता में कुछ सुधार किया जा सकता है. एंटीबॉडी के स्तर में सुधार होने से महिला को सर्दी-खांसी-जुखाम का खतरा कम होता है.


6. विशेषकर, तीसरी तिमाही में (अंतिम 6 से 9 महीनो में) शारीरिक संबंध बनाने से श्रोणि की मांसपेशियां मजबूत होकर गर्भवती महिला को नॉर्मल डिलीवरी के दौरान किसी भी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ता है.


गर्भावस्था के दौरान और बाद में संभोग से होने वाली समस्याये जानिए 


जब हम Sex During Pregnancy याने  गर्भावस्था के दौरान और बाद में संभोग करते है तब इसके केवल फायदे ही हमें देखने को नहीं मिलते है. प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाने से कुछ समस्याओं के संकेत भी हमारे शरीर को मिलने लगते है. जिनसे हमें आगे परेशानी हो सकती है. 


1. महिलाओ में स्पॉटिंग की समस्या हो सकती है और योनि से रक्तस्राव हो सकता है. 

2. Sex During Pregnancy से महिलाओ के गर्भाशय के संकुचन हो सकता है. 

3. गर्भावस्था में संभोग करना आपको दर्द का एहसास करा सकता है.

4. गर्भाशय से एमनियोटिक द्रव का रिसाव हो सकता है.  

6. गर्भावस्था में संभोग करने से योनि के आस-पास के हिस्से में दर्द और ऐंठन हो सकती है. 


प्रेगनेंसी के चलते शारीरिक संबंध कैसे प्रभावित हो सकते हैं? (Sex After Pregnancy How Long to Wait) जानिए 


प्रेगनेंसी के चलते शारीरिक संबंध याने Sex Life पहले जैसी नहीं रह जाती है. गर्भावस्था में शरीर में बहुत से परिवर्तन होते हैं, जिसके कारण Sex Life काफी प्रभावित होती है. गर्भावस्था में संभोग करने की इच्छा कम हो जाती है. 


इस सेक्शन में आपको तीनों तिमाही के दौरान Sex After Pregnancy How Long to Wait याने प्रेगनेंसी के चलते शारीरिक संबंध कैसे प्रभावित हो सकते हैं? इस बारे में बताने वाले है :- 


i) प्रथम तिमाही (1 से 3 महीने के बिच):- 


गर्भावस्था के 1 से 3 महीने के बिच याने प्रथम तिमाही के दौरान प्रेग्नेंट महिला को सुबह के समय ज्यादा कमजोरी महसूस होती है. इसके अतिरिक्त थकान, स्तनों में सूजन, उनके स्वभाव में चिड़चिड़ापन और बार-बार पेशाब लगने आदि का अनुभव होता है. ये सब हार्मोनल चेंजेस के कारण होता है और इससे ही प्रेग्नेंट महिला की कामेच्छा में कमी होने लगती है.


ii) द्वितीय तिमाही (4 से 6 महीने के बिच):- 


प्रेगनेंसी के 4 से 6 महीने के बिच याने द्वितीय तिमाही में मॉर्निंग सिकनेस और उसी प्रकार अन्य समस्या कम होने लगती हैं. इससे महिलाओं में शारीरिक संबंध बनाने की तीव्र इच्छा हो सकती है. इसके दौरान प्रेग्नेंट महिला का पेट ज्यादा बड़ा नहीं होता है और आराम से यौन संबंध बनाए जा सकते हैं.


iii) तृतीय तिमाही (6 से 9 महीने के बिच):- 


प्रेगनेंसी के 6 से 9 महीने के बिच इस भ्रूण का पूर्णत: विकास हो जाता है और पेट का आकार बड़ा हो जाता है. साथ में महिलाये अपने बच्चे की सुरक्षा के बारे में ज्यादा सक्रिय हो जाती है. इसलिये 6 से 9 महीने के बिच में याने तृतीय तिमाही में प्रेग्नेंट स्त्री में शारीरिक संबंध बनाने की इच्छा कम हो जाती है.


इस प्रकार से तीनो तिमाही में जब प्रेग्नेंट होने के बाद संबंध बनाने काफी परिवर्तन आ जाता है और सेक्स लाइफ काफी प्रभावित हो जाती है


गर्भावस्था में संभोग के दौरान सुरक्षित यौन स्थिति क्या हैं? 


ये बिलकुल सही है की, स्वस्थ गर्भावस्था के चलते शारीरिक संबंध बनाकर संभोग किया जा सकता हैं. किन्तु इसके लिए भी आपको शारीरिक संबंध के लिए सही अवस्थाओं का चुनाव करना आवश्यक होता है. इसीलिए आपको हर एक तिमाही में किस पॉजिशन में संबंध बनाना बेहतर होता है ये बताएँगे.


गर्भावस्था-में-संभोग-के-दौरान-सुरक्षित-यौन-स्थिति-क्या-हैं-सेक्स-पोजीशन
गर्भावस्था में संभोग के दौरान सुरक्षित यौन स्थिति क्या हैं? 


1. प्रथम तिमाही (1 से 3 महीने के बिच) सेक्स पोजीशन:-

 

a) वुमन ऑन टॉप पोजीशन:- इसमें महिला, पुरुष के ऊपर और पुरुष, महिला के निचे रहता है. ताकि पेट पर किसी प्रकार का दबाव न पड़े और किसी प्रकार की असुरक्षा से बचा जा सके.


b) एज ऑफ द बेड पोजीशन :- इस पोजीशन में महिला बेड के किनारे पीठ के बल लेट जाती है और पैर नीचे जमीन को स्पर्श करते हैं. वहीं पर पुरुष सामने खड़ी अवस्था में रहता है.


c) घुटनों के बल संबंध बनाना :- इसे “डॉग स्टाइल” पोजीशन भी कहा जाता है. बेड या सोफे पर महिला घुटनों को मोड़कर आगे की तरफ झुक जाती है तथा पुरुष पीछे की तरफ रहता है.


2. द्वितीय तिमाही (4 से 6 महीने के बिच) सेक्स पोजीशन:-


a) घुटनों के बल संबंध बनाना :- उपरोक्त ही बताई गयी इस सेक्स पोजीशन को दूसरी तिमाही में भी सुरक्षित माना गया है. इससे महिला और गर्भाशय में बच्चे दोनों को नुकसान नहीं होता.


b) सिटिंग डाउन पोजीशन :- इसमें महिला अपने साथी पुरुष की गोद में बैठ जाती है और दोनों का चेहरा आमने-सामने होकर संबंध बनाते है. 


c) स्पूनिंग पोजीशन :- इस पोजीशन में महिला एक तरफ लेट जाती है और पुरुष भी उसी पोजीशन में उसके पीछे रहता है. इसे सबसे सुरक्षित पोजीशन माना गया है.


3. तृतीय तिमाही (6 से 9 महीने के बिच) सेक्स पोजीशन:-


a) वुमन ऑन टॉप पोजीशन : तीसरी तिमाही में पेट काफी बड़ा हो जाता है. इसलिए यह अवस्था सुरक्षित हो सकती है. इसमें महिला, पुरुष के ऊपर होती है, जिस कारण पेट पर किसी तरह का दबाव नहीं पड़ता है. इसके अतिरिक्त “स्पूनिंग” और “डॉग स्टाइल” पोजीशन में भी संबंध बना सकते हैं.


अभी हमने जाना कि, हर तिमाही में शारीरिक संबंध बनाते समय किस पॉजिशन में रहना चाहिए लेकिन संभोग की किन-किन पॉजिशन से बचना चाहिए ये जानकारी आवश्यक है. आगे देखिये और समझे.


आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलता है -  Pregnancy Symptoms In Hindi

Mortgage Meaning In Hindi - What Is Mortgage - Mortgage Meaning सटीक जवाब 

भाषा के प्रमुख प्रकार-रूप-भेद | Bhasha Ke Kitne Roop Hote Hain |Bhasha Ke Kitne Bhed Hote Hain 

Benefits Of Yoga In Hindi In References Of Coronavirus -योग के फायदे या लाभ


गर्भावस्था में संभोग करते समय किन-किन पॉजिशनो से बचना चाहिए 


प्रेगनेंसी की प्रथम तिमाही में सभी पॉजिशन सुरक्षित होती हैं. किन्तु अधिक गति के साथ नहीं करना चाहिए. साथ ही अत्यधिक खुशबुवाले ल्यूब्रिकेंट और योनि मार्ग के बदले वैकल्पिक यौन संबंध से बचना चाहिए.


द्वितीय तिमाही में हमें मिशनरी पोजीशन से बचना चाहिए. क्योंकि इसमें महिला पीठ के बल लेट जाती हैं तथा पुरुष ऊपर होता है. इस कारण गर्भाशय पर भार आने से रक्त-वाहिकाएं दबने कारण प्रेगनेंसी में परेशानी हो सकती है.


तृतीय तिमाही में पीठ के बल लेटने वाली पोजीशन से बचना चाहिए. जिससे आप प्रेगनेंसी में आने वाली समस्याओ से बच सके.


Can We Have Sex During Pregnancy में जरूरी बाते जो ध्यान में रखना चाहिए 


a) प्रेग्नेट महिला को लुब्रिकेंट्स और सेक्सज टॉयज का उपयोग बिलकुल भी नहीं करना चाहिए.


b) विशेषकर ऐसे लुब्रिकेंट्स जिनमें ज्यादा खुशबू होती है. क्योंचकि इसमें होने वाले केमिकल से बच्चे- को नुकसान हो सकता हैं.


c) प्रथम तिमाही में संभोग से बचें तो बेहतर होगा. क्यों कि इस समय अधिकांश महिलाओ में इंफेक्शन और गर्भपात का खतरा काफी ज्यासदा हो सकता है.


d) प्रेग्नेंासी में सेक्सो से बचने की सलाह तब जरुरी हो जाती है जब पेट में एक से ज्यादा बच्चे हों जिससे पेट बड़ा होता है जिससे सेक्सस काफी तकलीफ दे सकता है.


प्रेगनेंसी में सेक्स के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (Frequently Asked Questions About Sex During Pregnancy)


इसमें आपको इस हमारे ब्लॉग IndianGappa के नियमित पाठको द्वारा गर्भावस्था में संभोग के बारे में पूछे गए Frequently Asked Questions जो की अक्सर पूछे जाने वाले सवाल होते है उनमे से कुछ सवाल और जवाब यहाँ इस लेख में शामिल किये गए है. निचे आप देख सकते है :- 


1. क्या गर्भावस्था में यौन संबंध बनाने से गर्भपात हो सकता है ? (Can Sex in Pregnancy lead to Miscarriage)

जवाब:- अधिकतर लोगो की गलत सोच है की, शारीरिक संबंध बनाने से गर्भपात होता है. लेकिन ऐसा सभी महिलाओ के लिए नहीं होता है. बच्चे को तरल पदार्थ से सुरक्षित रखने के लिए एक थैली होती है इस थैली को एमनीयोटिक थैली कहते है. यह गर्भाशय की दिवार से पूरी तरह सुरक्षित रहता है. बच्चों को संक्रमण से बचाने में सहायक एक म्यूज प्लग होता है. इसी कारण है बच्चे तक पुरुष के लिंग नहीं पहुंच पाते है. हालांकि प्रेगनेंसी के अंतिम महीने में महिलाओं को संभोग न करने की सलाह दे सकते है. ऐसा इसलिए पुरुष के संभोग द्वारा एक केमिकल का रिसाव होता है जो उत्तेजना को बढ़ा सकता है और प्रसव पीड़ा का खतरा पैदा कर सकता है. 


2. क्या प्रेग्नेंसी के दौरान संभोग करने से समय से पूर्व प्रसव हो सकता है?

जवाब:- प्रेग्नेंसी के अंतिम हफ्तों में शारीरिक संबंध बनाने से रक्त वाहिकाओं में ऑक्सीटॉसिन हार्मोन का निर्माण होता है. यह हार्मोन ग्रीवा को प्रसव के लिए तैयार करने में मदद करता है, जिससे आखरी दिनों में संकुचन हो सकता है और प्रसव का अहसास हो सकता है. इसलिए, अगर आपको पहले कभी समय पूर्व हुआ हो, तो अंतिम समय में शारीरिक संबंध से बचना चाहिए.


3. क्या पहली तिमाही के दौरान संभोग से गर्भपात हो सकता है?

जवाब:- नहीं, यदि महिला पूरी तरह से स्वस्थ हैं और दोनों साथी सुरक्षित तरीके से शारीरिक संबंध बनाते हैं, तब गर्भपात नहीं हो सकता है. वहीं, यदि आपको किसी प्रकार की समस्या है या फिर संक्रमण हो गया है,  तब गर्भपात हो सकता है.


4. क्या गर्भावस्था के दौरान वैकल्पिक यौन संबंध बनाना सुरक्षित है?

जवाब:- नहीं, इससे शिशु को नुकसान पहुंच सकता है और गर्भवती को भी संक्रमण हो सकता है.


5. क्या गर्भावस्था के दौरान संभोग में अरूचि होना सामान्य है?

जवाब:- हां, इसका कारण थकावट, जी-मिचलाना, स्तनों में बदलाव और बार-बार पेशाब आना होता है.


5. क्या गर्भावस्था के दौरान संभोग के लिए कंडोम आवश्यक हैं?

जवाब:- गर्भावस्था के दौरान यौन संक्रमण होने पर आपके शिशु को गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं. इसलिए, कंडोम/निरोध का उपयोग करना सुरक्षित होता है. वैसे भी शारीरिक संबंध के समय कंडोम जरूर करना चाहिए, फिर चाहे आप गर्भवती हों या न हों.


7. गर्भावस्था में संभोग के बाद संकुचन क्यों होता है?

जवाब:- गर्भावस्था के समय शारीरिक संबंध बनाने के बाद पेट में संकुचन या ऐंठन महसूस होना सामान्य है. ऐसा पेट में रक्त का प्रवाह तेज होने के कारण हो सकता है.


Note :- इस लेख के माध्यम से हमारा उद्देश्य केवल आपको से जानकारी देना है. हम आपको उपचार की सलाह या किसी तरह दवा के उपयोग की सलाह नहीं देते है. ये लेख केवल जानकारी के उद्देश्य से इन्टरनेट पर उपलब्ध जानकारी को संगृहीत करके आपके लिए लिखा गया है. ये जानकारी बहुत से लोगो के लिए उनके शरीर के मुताबिक लागु हो सकती है. 


लेकिन आपको हमारी अंतिम सलाह यही है की, Is It Safe To Have Sex During Pregnancy की अधिक जानकारी अपने स्त्री विशेषज्ञ (Gynecologist) से मिलकर ही लीजिये हैं. 


निष्कर्ष:-


आज के प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए - गर्भावस्था और संभोग इस लेख में लेख में आपको प्रेगनेंसी में पति से कब दूर रहना चाहिए, Sex After Pregnancy, Sex During Pregnancy Is Safe, Sex During Pregnancy, प्रेग्नेंट होने के बाद कितने दिन तक संबंध बनाना चाहिए, Sex During Pregnancy Safe Or Not, प्रेगनेंसी के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए, Is It Safe To Have Sex During Pregnancy, Can We Do Sex During Pregnancy, Can We Have Sex During Pregnancy, गर्भावस्था में संभोग करना सही है या गलत है और When To Stop Sex During Pregnancy इस बारे में जानकारी दी गयी. हमें उम्मीद है की, इस लेख के माध्यम दी गयी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी.

Post a Comment

0 Comments