Ads

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करना चाहिए – मासिक धर्म - Menstrual Cycle In Hindi - जानिए

हमें पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करना चाहिए – सटीक जवाब


ज के लेख में आपको मासिक धर्म या Menstrual Cycle इस विषय से जुड़े सवाल पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करना चाहिए? इसके जवाब को जानेंगे. उसीप्रकार इसी से जुड़े कुछ कौतुहलपूर्ण सवाल जिनमे पीरियड क्यों होते हैं या पीरियड क्यों होता है , पीरियड्स क्या होते है, पीरियड्स कितने दिन का होता है, पीरियड मिस होने पर क्या करें इन पर भी विस्तृत चर्चा होगी. 


जो युवतिया अभी-अभी अपनी कौमार्य अवस्था में प्रवेश कर रही है. उनके मन में हमेशा से ही Period Miss Hone Par Kya Kare इस प्रकार के सवाल आते है. वही पर यदि कोई नवविवाहित है तो पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे या फिर पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी होती है या नहीं इस प्रकार के असमंजस से भरे सवाल भी सुनने को मिलते है. 


पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद  की परिस्थिति और आपका आंकलन  


आपको बता दे की, हमारे ब्लॉग के विशेषज्ञों के द्वारा Google पर मासिक धर्म या Menstrual Cycle इस विषय पर सर्च कीये जाने वाले सवालों से बारे में जानकारी इकठ्ठा की तो उसमे दिलचस्प जानकारी प्राप्त हुआ है. उसमे ज्ञात जानकारी में यह समझ आया की, बीते 5 वर्षो में Menstrual Cycle से जुड़े सर्च में कुल 50 प्रतिशत का इझाफा हुआ है. इससे ये पता चलता है की, इस समय Menstrual Cycle से जुडी समस्याए बढती ही जा रही है. 


पीरियड-मिस-होने-के-7-दिन-बाद
पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद


जब हम पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद की परिस्थिति का आंकलन करते है तब हमें अपनी दिनचर्या के बारे में भी विचार करना होगा. वैसे ये परिस्थिति सभी के लिए अलग-अलग होगी. यदि वो कोई अविवाहित लड़की है तो वह कोई पीरियड लेन वाली दावा खाकर अपने मासिक धर्म को नियमित कर सकती है.


लेकिन उसके स्थान पर कोई विवाहित महिला है तो उसके मन भी भिन्न-भिन्न खयालो का आना स्वाभाविक है. उसमे भी यदि वो महिला नवविवाहित हो और फॅमिली की प्लानिंग कर रहे हो तो फिर उनके सोचने का नजरिया बदल जाता है. 


इस प्रकार से पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद ये सवाल काफी संभावनाओ से भरा हुआ है इसमें कोई भी सटीक आंकलन लगा पाना मुस्किल है. ऐसे विभिन्न संभावनाओ से भरे इस सवाल के जवाब को देने के लिए या फिर यु कहा जाये की खोजने के लिए आज ये लेख आपके सामने प्रस्तुत है. 


हमने इस सवाल का जवाब खोजने के लिए इसीलिए कहा की, हम भी आज इस सवाल का जवाब खोज ही रहे है जो की इस चर्चा के अंत में मिलने की पूरी सम्भावना है. इस लेख में आगे हम निचे बताई गयी विषय तालिका के आधार पर बढ़ेंगे. 


विषय तालिका - Table of Content

  • पीरियड्स क्या होते है - Menstrual Cycle In Hindi - मासिक धर्म

  • पीरियड क्यों होता है - पीरियड क्यों होता है इन हिंदी - Period Kyu Hote Hain

  • पीरियड्स कितने दिन का होता है ?

  • पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करना चाहिए – सभी पहलुओ की चर्चा 

  • पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे – प्रथम संभावना (1st Probability) 

  • पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी होती है – द्वितीय संभावना  (2nd Probability)

  • पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव है – तृतीय संभावना  (3rd Probability)

  • पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव है – चतुर्थ संभावना (4th Probability)

  • पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव होने के कारण पर चर्चा

तो आइये शुरू करते है......!


पीरियड्स क्या होते है - Menstrual Cycle In Hindi - मासिक धर्म


जैसे की पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद इस विषय पर जो चर्चा में हम आगे बढ़ रहे है. उसमे हमें सबसे पहले पीरियड्स क्या होते है? इस बात को जानना आवश्यक है. 


पीरियड किसी युवती के कौमार्य अवस्था का वह समय होता है जब उसके शरीर में ओवरी के द्वारा पैदा हुए हार्मोन के कारण बदलाव हो रहा होता है. यह साधारणत: 8 से 13 वर्ष की आयुवर्ग में यह शुरू होता है. 


पीरियड्स-क्या-होते-है-मासिक-धर्म
पीरियड्स क्या होते है


इस समय स्त्री के अंदरुनी अंग और अंडरआर्म जगहों में बाल आना, उसमे ब्रैस्ट का विकास और युवती की ऊंचाई में भी बढ़ोतरी होती है. इसी के साथ ही युवतियों के शरीर बहुत से बदलाव देखने को मिलते है.  


युवतियों के शरीर में बदलाव के साथ ही जब वो अपनी कौमार्य अवस्था में पहुच जाती है तब मासिक धर्म या Menstrual Cycle का होना स्वाभाविक गतिविधि है. वैसे मासिक धर्म को प्रकृति का नियम क हा जाये तो गलत नहीं होगा. 


इसे अभी अपनी अपनी समझ के मुताबिक माहवारी, पाडी, छुट्टी, सफाई आदि कहते देखे जा सकते है. किन्तु इनका सही और प्रचलित शब्द पीरियड्स या मासिक धर्म है. इसे इंग्लिश में Menstrual Cycle कहा जाता है. 


पीरियड क्यों होता है - पीरियड क्यों होता है इन हिंदी - Period Kyu Hote Hain


किसी युवती को पीरियड्स होने का अर्थ उसके ओवरीज़ अर्थात अंडाशयों का विकसित हो जाना है और अंडाशय अब अंडे बनाने के लायक हो गए हैं. जो कि की हमारे सृष्टि के नियम को पूरा करने के लिए अत्यंत आवश्यक है. क्योकि इसके बिना प्रेग्नेंसी अर्थात गर्भधारण नहीं हो सकता है. पीरियड्स केवल लड़कियों याने महिलाओ में ही होता है.


युवतीयो के अंडाशय में लाखों अपरिपक्वि अण्डाेणु मौजूद होते हैं. जब लड़की अपनी कौमार्य अवस्था में पहुचती है तब उनके अंडाशय से हर महीने में एक बार एक अंडा पूरी तरह से परिपक्व होकर गर्भाशय (यूटरस) में आता है. 

menstrual-cycle-in-hindi-पीरियड्स-क्या-होते-है
Menstrual Cycle In Hindi - पीरियड क्यों होता है


यह सब कुछ हार्मोन्स के प्रभाव से होता है. गर्भाशय (यूटरस)में परिपक्व अंडे का अंडाशय से निकलकर आने का अर्थ लड़की या महिला प्रेगनेंसी के लिए तैयार है ऐसा होता है. 


इस समय प्रेगनेंसी की तैयारी में गर्भाशय का भीतरी भाग मोटा होना शुरू होता है. अगर लड़की के गर्भाशय में रुका हुआ अंडा किसी स्पर्म से निषेचित (फर्टिलाइज़) नहीं होता है. तब गर्भाशय की दीवार को खींचते हुए वह अंडा रक्त प्रवाह के रूप में योनि से होकर बाहर निकलता है. 


उपरोक्त प्रक्रिया को ही पीरियड कहते हैं और ये “प्रकृति का नियम” है जिससे स्त्री जाती के कुछ अपवाद ही अछूते हो सकते है नहीं तो यह “प्रकृति का नियम” किसी भेदभाव के बिना सभी पर लागु होता है


पीरियड्स कितने दिन का होता है - मासिक धर्म (Menstrual Cycle) कितने दिन का होता है


यह सर्वमान्य है की, महिलाओं में प्रत्येक महीने लगभग एक बार पीरियड्स आने की संभावना होती है. एक सामान्य Menstrual Cycle याने पीरियड लगभग 28 दिनों का होता है. किन्तु 28 दिन पीरियड्स के दिनों की एक औसत संख्या है, वैसे पीरियड्स का 21 से 35 दिनों के बीच होना भी सामान्य है


पीरियड होने के बाद रक्त प्रवाह की मात्रा हर दिन भिन्न-भिन्न होती है. शुरुआती समय में सबसे अधिक रक्त-स्त्राव होता है और अंत तक कम होता चला जाता है. जब युवतियों को पहली बार पीरियड्स होते हैं, तब उनको बहुत ज्यादा रक्त-स्त्राव का सामना करना पड़ सकता है. 


पीरियड्स-कितने-दिन-का-होता-है
पीरियड्स कितने दिन का होता है


हर एक युवती की ये जिम्मेदारी बनती है की, यदि भविष्य में होने वाली समस्याओ से बचने के लिए वे अपने पीरियड्स के बारे में वो सजग रहे. यदि उनके पीरियड्स के मध्य 35 से अधिक दिनो का अन्तराल हो तो इसके कारण की जाँच के लिए डॉक्टर के पास अवश्य ही जाये. 


पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करना चाहिए – सभी पहलुओ की चर्चा 


हमारे समाज में कुछ ऐसे भी लोग है जो पीरियड को एक समस्या मानते हैं. जबकि यदि किसी युवती या महिला को पीरियड नही होना ये सबसे बड़ी समस्या है. आपको बता दे की, सभी डॉक्टर्स भी इस बात को मानते है की, पीरियड आने का अर्थ है महिला या युवती का स्वस्थ होना. 


मासिक धर्म या Menstrual Cycle आने के पहले आपके शरीर में कुछ सामान्य लक्षण दे सकते है. 


1. मासिक धर्म से पहले पेट में दर्द और ऐंठन की समस्या, 

2. Menstrual Cycle शुरू होने के साथ डायरिया या उल्टी की समस्या भी हो सकती है. 

3. मासिक धर्म चक्र शुरू होने के साथ पेट में समस्या के अलावा खाने की इच्छा भी बढ़ जाती है.


नियमित तौर पर पीरियड या मासिक धर्म होता है तो ये अच्छी बात है. लेकिन यदि किसी करना से आपका पीरियड मिस हो जाता है और उसमे कुछ ज्यादा ही समय हो जाता है तो इसके बहुत से पहलु हो सकते है.  


उन सभी पहलुओ पर पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करना चाहिए इस लेख से माध्यम से हम जानने के लिए हम और आप यहाँ आये है. उस पड़ाव में हम पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद में जो संभावनाये हमें दिखाई देती है उनके बारे में हम आगे चर्चा करेंगे. कुल मिलकर चार संभावनाओ पर निचे चर्चा करेंगे.

आपके लिए अन्य आर्टिकल  

👇👇👇यह भी पढ़ें-👇👇👇

Pregnancy Symptoms In Hindi - गर्भ ठहरने के कितने दिन बाद पता चलता है

पीरियड मिस होने के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे - प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए

अनवांटेड किट खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है – जानिए

पुरुष का स्पर्म कितना होना चाहिए जिससे बच्चा ठहर सकता है - दिलचस्प जानकारी 

पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए [Sex After Period]  एक महत्वपूर्ण सवाल 

प्रेग्नेंट होने के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए [Pregnancy And Sex] गर्भावस्था और संभोग

पीरियड के कितने दिन बाद बच्चेदानी का मुंह खुला रहता है - सटीक जवाब


पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद की – प्रथम संभावना (1st Probability)


आइये आगे इस लेख में पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद की प्रथम संभावना को जानने के कोशिश करेंगे. इस जगह पर हम कोशिश इस शब्द का प्रयोग इसीलिए कर रहे है की, इसे हम कोई सटीक बात नहीं कर पाएंगे. क्योकि संभावना इस शब्द में कही न कही पर एक रहस्य का भाव होता है जिसमे कोई भी बात निश्चित रूप से नहीं कही जा सकती है या कोई दावा नहीं किया जा सकता है. 


इसमें प्रथम संभावना में यदि आप एक विवाहित युवती हो तब पीरियड मिस होने पर क्या करें इस बारे में हम आपको इस बात की सलाह नहीं दे पाएंगे की, आप प्रेगनेंसी टेस्ट करे. इसके विपरीत इस समय हम आपको कहेंगे की आपका पीरियड को मिस हुए यदि 7 दिन से ज्यादा हो गए हो या फिर आपके पिछले पीरियड आने की दिनांक से 35 दिन से अधिक हो गए हो तो आप किसी भी उलटी-सीधी दवाइयों का सेवन बिलकुल न करे और कही सुनी बातो पर ध्यान न देकर किसी स्पेस्लिस्ट डॉक्टर का परामर्श जरुर लीजिये. 

पीरियड-मिस-होने-के-7-दिन-बाद-प्रेगनेंसी-टेस्ट-करे
पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे


वैसे पीरियड याने मासिक धर्म से जुडी किन परिस्थिति में डॉक्टर से संपर्क करने के बारे में आपको कुछ बाते विशिष्ठ रूप से ध्यान रखना है.  


1. आपकी उम्र यदि 16 वर्ष पूर्ण हो चुकी हो और आपको पीरियड आना शुरू नहीं हुई है. 

2. आपका पीरियड में अचानक से अनियमितता आ गयी हो. 

3. दो मासिक धर्म के बीच में योनि से अधिक मात्रा में रक्त स्राव होने की स्थिति में.

4. संबंध बनाने के पश्चात योनि से ख़ून निकलने की परिस्थिति में.

5. आपको मासिक धर्म बंद होने के बाद एक वर्ष हो चुके है और योनि से ख़ून निकलने की परिस्थिति में

6. आयु के 40 वर्ष अथवा इसके बाद भी मासिक धर्म के दौरान दर्द होना शुरू होने की परिस्थिति में.

7. मासिक धर्म 21 दिन से कम अवधि का होने की परिस्थिति में 

8. मासिक धर्म के दौरान बहुत तेज़ दर्द होना या पेट दर्द होने की स्थिति में

9. जब आपकी उम्र 45 से कम हो और आपको एक साल से पीरियड नहीं आया हो.


इस प्रकार से यदि उपरोक्त में से किसी भी परिस्थिति में आपको अपने डॉक्टिर से अवश्य ही संपर्क करना है इसी बिलकुल भी इन्ग्नोर न करे. 


पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे – द्वितीय संभावना (2nd Probability)


Period Miss Hone Par Kya Kare इस बारे में द्वितीय संभावना के बारे में बात करे तो जब आप विवाहित महिला हो लेकिन आपने फॅमिली प्लानिंग के बारे में कोई विचार नहीं किया है ना ही कोई उसके लिए अपने पार्टनर से शारीरिक संबंध बनाया है. ऐसे समय आपका पीरियड मिस होने के बाद आपको क्या करना चाहिए. इस द्वितीय संभावना में भी हम आपको प्रेगनेंसी टेस्ट करे की सलाह बिलकुल भी नहीं दे सकते है, क्योकि ये एक बेवकूफी भरी सलाह होगी.


इस समय आपको पीरियड मिस होने का कारण कोई दूसरा है न की प्रेगनेंसी है. इसके लिए हमारा नियमित आहार, नियमित दिनचर्या, प्रतिदिन बढ़ता टेंशन, हमारे कार्य का बोझ, खानपान में विटामिन्स की कमी आदि बहुत से करना हो सकते है. जिनके चलते हमे पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद याने पिछले पीरियड की तारिक से 35 दिन अधिक होने के बाद डॉक्टनर से संपर्क करने के सिवा कोई भी उपाय नजर नहीं आता है. हमारा भी आपको यही परामर्श है की, आप इसे बिलकुल भी अनदेखा ना करे. 


पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी होती है – तृतीय संभावना (3rd Probability)


आगे इस लेख में पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद की तृतीय संभावना में एक नवविवाहित जोड़े के जीवन की सबसे सुखद संभावना में से एक है. वो ये की, जब आप विवाहित हो और फॅमिली प्लानिंग के विचार से दोनों ही पार्टनर ने सम्बन्ध बनाये हो इस समय आपको पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे इस बाद की सलाह दी जायगी. 


पीरियड-मिस-होने-के-7-दिन-बाद-प्रेगनेंसी-होती-है
पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी होती है


क्योकि पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी होती है इस बारे में बहुत से डॉक्टर और विशेषज्ञों का मत एक ही है. पीरियड मिस होने के लगभग 7 से 10 दिनों के बाद प्रेगनेंसी का सही परिणाम प्राप्त हो जाता है. आजकल मार्किट में आसानी से प्रेगनेंसी के लिए किट्स भी उपलब्ध हो जाती है. 

 

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव है – चतुर्थ संभावना (4th Probability)


अंत में पीरियड मिस होने के जुडी चतुर्थ संभावना में यदि आप विवाहित हो और फॅमिली प्लानिंग के विचार से दोनों ही पार्टनर ने सम्बन्ध बनाये हो फिर भी प्रेगनेंसी टेस्ट करने के बाद परिणाम नेगेटिव है. इसमें तृतीय संभावना की परस्थिति भी जुडी है.  


तृतीय और चतुर्थ संभावना का मिलता जुलता रूप पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव है इसके कारणों पर आगे प्रकाश डालेंगे. 


पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव होने के कारणों पर चर्चा 


जब पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद या फिर उससे ज्यादा समय हो जाने के बाद भी प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव आने पर महिलाएं चिंतित हो जाती हैं. इस परिस्थिति में प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव आने के बहुत से कारण हो सकते हैं. जिन कारणों पर आपको ध्यान अवश्य देना चाहिए.


आपके द्वारा प्रेग्नेंसी टेस्ट में लाये जाने वाले घरेलू उपाय भी गलत भी साबित होते हैं. अर्थात आप प्रेग्नेंट हो किन्तु घरेलू उपाय में आपको नेगेटिव परिणाम ही मिल रहे हो. 

पीरियड-मिस-होने-के-7-दिन-बाद-प्रेग्नेंसी-टेस्ट-नेगेटिव-होने-के-कारणों-पर-चर्चा
पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट नेगेटिव होने के कारणों पर चर्चा


घरेलू उपाय में यूरिन में मौजूद मौजूद HCG हार्मोने के हिसाब से प्रेग्नेंसी टेस्ट किया जाता है. लेकिन कभी-कभी ये घरेलू उपाय गलत भी हो सकते है. इसीलिए आपको प्रॉपर प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का उपयोग करना है


1. विलंबित पीरियड और निगेटिव प्रेग्नेंसी टेस्ट का सामान्य कारण :-

ज्यादातर लोग उतावलेपन में जल्दी ही प्रेग्नेंसी टेस्ट करके देख लेते हैं और निगेटिव प्रेग्नेंसी टेस्ट की जानकारी अपने डॉक्टर को देते है. यदि प्रेग्नेंसी टेस्ट में जल्दी से HCG हार्मोन की मात्रा कम होने के चलते प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव हो जाता है. पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद यदि आपका प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव हो तो आपको हमारी सलाह है की उसके बाद एक और हफ्ते का इंतजार करना कीजिये और दोबारा टेस्ट कीजिये.


2. प्रेग्नेंसी टेस्ट में की जाने वाली गलतीया:-

उपरोक्त कारण के आलावा प्रेग्नेंसी टेस्ट में की जाने वाली गलतीया भी इसके लिए जिम्मेदार होती है. इसमें आपके अनुभव की कमी प्रमुख कारण होती है. इसीलिए पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद यदि टेस्ट निगेटिव आये तो दोबारा टेस्ट करके किसी किसी अनुभवी व्यक्ति का परामर्श जरुर लीजिये.


3. महिलाओं में हार्मोन की कमी होना :-

वर्तमान में महिलाओं में हार्मोन की मात्रा कम होना साधारण बात है. यदि हार्मोन की मात्रा इतनी कम जाये कि आपका प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव आये तो ये चिंता की बात है. बहुतो बार ऐसा भी हुआ है की, ज्यादा पानी के सेवन से भी प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव आता है.


4. एक्टोपिक प्रेग्नेंसी की अवस्था में:- 

एक्टोपिक प्रेग्नेंसी बहुत कम ही लोगों में होती है. यदि प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव होने के बाद भी आपके पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है, ब्लीडिंग होती है, चक्कर आते हैं, जीमचलता है या फिर उल्टी होती है तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.


5. केवल सामान्य अनियमित पीरियड :-

वर्तमान में तनावपूर्ण जीवनशैली और खानपान में लापरवाही के चलते पीरियड में देरी हो सकती है. मदिरापान और स्मोकिंग करने से वैसे ही आपका स्वास्थ्य में खराबी से आपके भी पीरियड में देरी हो जाती है. इस परिस्थिति में स्वाभाविक है की, प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव ही आता है.


6. पी.सी.ओ.एस. की समस्या में 

पी.सी.ओ.एस. की समस्या में पीरियड में देरी होती ही है. इस समस्या में आपके डॉक्टर आपको सही परामर्श दे सकते है. अगर आपको पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम याने P.C.O.S. की समस्या है तो प्रेग्नेंसी टेस्ट निगेटिव हो सकता है. 


बहुतो बार कुछ दवाओं के सेवन से भी पीरियड्स आने में देरी हो जाती है. यदि पीरियड्स आने में देरी के बारे में सोचकर आप चिंतामग्न हैं कि, आप प्रेग्नेंट न हो जाएं. तो आपको ये जान लेना चाहिए की, पीरियड्स मिस होने के अतिरिक्त प्रेग्नेंसी बहुत से कारण हो सकते हैं. 


7. तनाव की परिस्थिति में:- 

पीरियड्स में देरी का कारण तनाव भी हो सकता है. आपको बता दे एक शोध में ये बाद सामने आई है की, किसी विषय के बारे में बहुत अधिक सोचने से भी अनियमित पीरियड्स की समस्या हो सकती है. 


8. मेनोपॉज की परिस्थिति में:- 

मेनोपॉज 45 की उम्र के बाद की महिलाओ में होता है, किन्तु किसी-किसी महिलाओं में मेनोपॉज जल्दी भी हो जाता है. यदि महिलाएं “बर्थ-कंट्रोल पिल्स” का उपयोग करती हैं तब भी पीरियड्स अनियमित होने की सम्भावना होती है. 


9. वज़न बढ़ाना और घटना:- 

महिला का वज़न भी पीरियड साइकिल को बिगाड़ने के लिए काफी है. वजन में बढ़ोतरी या कमी होने पर भी पीरियड्स देरी हो जाती है आवश्यक नहीं की ये प्रेगनेंसी के कारण ही हो. 


10. थायराइड की समस्या के चलते:- 

थायराइड में अचानक बढ़ोतरी या कमी से भी पीरियड्स में अनियमितता आती है. ज्यादातर महिलाओ में प्रेगनेंसी की विफलता का सबसे बड़ा कारण थायराइड की समस्या होती है. 


पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करें – YouTube की राय में पीरियड मिस होने पर क्या करें


यदि आप हमारे नियमित पाठक होंगे तो आपको ज्ञात होगा ही की, किसी भी विषय की चर्चा में हम YouTube के विद्वानों की राय आपके सामने जरुर रखते है. तो आइये पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करे? इस सवाल का जवाब जानने के अंतिम पड़ाव में Pregnancy Tips and Advice इस YouTube Channel के Period Miss Hone Par Kya Kare (पीरियड मिस होने पर क्या करें) इस विडियो के माध्यम से आपको प्रीति यादव जी के द्वारा आपके साथ महत्वपूर्ण जानकारी साझा की जाएगी. 

निचे आप विडियो देख सकते है. 👇👀👇



Note :- इस लेख में हमारा उद्देश्य केवल आपसे जानकारी को साझा करना है. लेख में साझा जानकारी इन्टरनेट पर उपलब्ध जानकारी में से संगृहीत करके आपके सामने रखा गया है. ये जानकारी बहुत से लोगो के लिए लागु हो सकती है या नहीं भी हो सकती है. इसीलिए आपसे अनुरोध है की, किसी भी प्रकार की समस्या में अपने डॉक्टर के सलाह पर ही किसी निदान पर पहुचे. 


निष्कर्ष:-

आज के लेख पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या करना चाहिए – जानिए में आपको Menstrual Cycle याने मासिक धर्म से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल जैसे पीरियड्स क्या होते है, पीरियड क्यों होता है या पीरियड क्यों होते हैं , पीरियड मिस होने पर क्या करें, पीरियड्स कितने दिन का होता है इन पर भी विस्तृत चर्चा के साथ ही Period Miss Hone Par Kya Kare, पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे अथवा पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी होती है या फिर नहीं होती है इसका भी सटीक जवाब आपके सामने रखा गया है. इस लेख के बारे में अपने विचार जरुर कमेन्ट करे….! 

Post a Comment

0 Comments